Suryakumar Yadav ने टेस्ट को बनाया T20, दिलीप ट्रॉफी में तूफानी फिफ्टी जड़कर BCCI को दिखाया आईना
Suryakumar Yadav ने टेस्ट को बनाया T20, दिलीप ट्रॉफी में तूफानी फिफ्टी जड़कर BCCI को दिखाया आईना

आईपीएल 2023 में कमाल का प्रदर्शन करने के बाद भी सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav) का बल्ला रुकने का नाम नहीं ले रहा है. गौरतलब है कि सूर्यकुमार यादव ने आईपीएल 2023 में कमाल का प्रदर्शन किया था जिसके बाद उनका बल्ला दिलीप ट्रॉफी में चल रह हैं. दिलीप ट्रॉफी में उन्होंने वेस्ट ज़ोन की ओर से खेलते हुए धमाकेदार बल्लेबाज़ी की है. हालांकि वेस्टइंडीज़ दौरे से पहले टीम इंडिया के लिए यह एक अच्छी खबर हो सकती है. उन्होंने इस मैच में सेंट्रल ज़ोन के गेंदबाज़ों का धागा खोल दिया है.

Suryakumar Yadav ने खेली अर्धशतकीय पारी

Suryakumar Yadav

दरअसल दिलीप ट्रॉफी का मुकाबला वेस्ट ज़ोन बनाम सेंट्रल ज़ोन के बीच खेला जा रहा है. जिसमें सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav) ने वेस्ट ज़ोन की ओर से खेलते हुए दूसरी पारी में कमाल कर दिया. सूर्यकुमार यादव ने इस मैच में आक्रामक रवैया अपनाते हुए 57 गेंद में 52 रनों का अर्धशतकीय पारी खेली. उन्होंने इस दौरान 1 छक्का और 8 चौके को अपने नाम किया. सूर्यकुमार यादव ने 89.66 के स्ट्राइक रेट के साथ बल्लेबाज़ी की. हालांकि वे लेफ्ट आर्म स्पिनर सौरभ कुमार का शिकार हो गए.

मैच का हाल

Suryakumar Yadav

दिलीप ट्रॉफी के सेमीफाइनल मुकाबले में वेस्ट ज़ोन ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 220 रन बनाए थे. जिसके जवाब में सेंट्रल ज़ोन 128 रन पर ही सिमट गई थी. वहीं अपनी दूसरी पारी में वेस्ट ज़ोन 135 रन पर खेल रही है. खबर लिखे जाने तक वेस्ट ज़ोन इस मैच में 228 रनों की बढ़त बनाए हुए है.

शानदार है Suryakumar Yadav का घरेलू करियर

Suryakumar Yadav

सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav) पिछले कुछ सालों से घरेलू क्रिकेट में कमाल का प्रदर्शन करते हुए दिखाई दिए हैं. उन्होंने 80  फर्स्ट क्लास मैच में 44.45 की औसत के साथ 5557 रन बनाए हैं. उन्होंने 14 शतक जबकि 28 अर्धशतक को भी अपने नाम किया है. इसके अलावा 125 लिस्ट A मैच में 34.23 की औसत के साथ उन्होंने 3287 रन बनाए हैं. इस दौरान उन्होंने 3 शतक और 19 अर्धशतक को अपने नाम किया है.  वहीं 258 टी-20 मैच में सूर्यकुमार यादव ने 35.15 की औसत के साथ 6503 रन बनाए हैं.

यह भी पढ़ें: 1983 से लेकर 2013 तक…टीम इंडिया के लिए लकी साबित हुए विदेशी कोच, 5 बार ICC की ट्रॉफी पर भारत ने जमाया कब्ज़ा