VIDEO: Shimron Hetmyer बने स्पाइडरमैन, हवा में उड़ते हुए जमीन से 2 इंच ऊपर लपकी गेंद, Suryakumar Yadav रह गए दंग
VIDEO: Shimron Hetmyer बने स्पाइडरमैन, हवा में उड़ते हुए जमीन से 2 इंच ऊपर लपकी गेंद, Suryakumar Yadav रह गए दंग

Suryakumar Yadav: टीम इंडिया इन दिनों वेस्टइंडीज़ के खिलाफ 5 मैच की वनडे सीरीज़ खेल रही है, जिसका पहला मुकाबला ब्रायन लारा क्रिकेट स्टेडियम त्रिनिदाद में खेला गया. इस मैच में वेस्टइंडीज़ के बल्लेबाज़ों और गेंदबाज़ों ने कमाल का प्रदर्शन किया और मैच को अपने नाम कर लिया. युवा खिलाड़ियों से सजी टीम इंडिया के बल्लेबाज़ कुछ खास कमाल नहीं कर सके.

वहीं इस मैच में सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav) भी खासा कमाल  नहीं कर सके. सूर्यकमार यादव  (Suryakumar Yadav)का इस मैच में शिमरोन हेटमायर ने शानदार कैच लपका, जिसका वीडियो वायरल हो रहा है.

शिमरोन हेटमायर ने पकड़ा शानदार कैच

Jasen Holder

दरअसल टीम इंडिया इस मैच में 150 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रही थी. टीम के सलामी बल्लेबाज़ों ने निराश किया. वहीं सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav) तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे. वे 20 गेंद में 21 रन बनाकर खेल रहे थे. लेकिन जेसन होल्डर ने उन्हें धीमी गति की गेंद पर अपना शिकार बनाया.

इस दौरान शिमरोन हेटमायर ने सूर्या का शॉट की दिशा में डाइन मारकर शानदार कैच लपक लिया. उन्होंने गोली की रफ्तार से जाती हुई गेंद पर डाइव मारी और जमीन से 2 इंच ऊपर गेंद को लपक लिया. अब इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है।

जेसन होल्डर का शानदार प्रदर्शन

Jasen Holderइस मैच में जेसन होल्डर ने शानदार गेंदबाज़ी का मुज़ायरा पेश किया. उन्होंने डेथ ओवर में भी शानदार गेंदबाजी की. वहीं उन्होंने अपने 4 ओवर के स्पेल में जेसन ने 19 रन खर्च किए और 2 मुख्य बल्लेबाज़ो को अपना शिकार बनाया. जेसन ने सूर्यकुमार यादव और हार्दिक पांड्या को पवेलियन की राह दिखाई. अपनी स्पेल के दौरान उन्होंने 4.80 के इकोनमी रेट के साथ रन खर्च किए. उनके शानदार प्रदर्शन की वजह से प्लेयर ऑफ दे मैच के खिताब से नवाज़ा गया.

वेस्टइंडीज़ ने मारी बाज़ी

Jasen Holder

टेस्ट सीरीज़ और वनडे सीरीज़ जीतने के बाद टीम इंडिया की टी-20 सीरीज़ का सफर निराशजनक रहा. टीम का कोई भी बल्लेबाज़ बड़ी पारी खेलने में नाकाम साबित हुआ. पहले बल्लेबाज़ी करते हुए वेस्टइंडीज़ की टीम ने 149 रन बनाए थे, जिसके जवाब में टीम इंडिया 145 रन ही बना सकी. 5 मैच की खेली जा रही इस सीरीज़ में टीम इंडिया 1-0 से पिछड़ गई.

यह भी पढ़ें: 1983 से लेकर 2013 तक…टीम इंडिया के लिए लकी साबित हुए विदेशी कोच, 5 बार ICC की ट्रॉफी पर भारत ने जमाया कब्ज़ा