Rohit-Virat Team India

Rohit-Virat: इंडियन क्रिकेट टीम के 2 स्तंभ मौजूदा कप्तान रोहित शर्मा और पूर्व कप्तान विराट कोहली (Rohit-Virat) इन दिनों रनों के लिए तरसते हुए नजर आ रहे हैं। आईपीएल 2022 को इसी साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्वकप 2022 के ऑडिशन के तौर पर देखा जा रहा है। हर भारतीय खिलाड़ी के प्रदर्शन पर भारतीय सिलेक्टर और भारतीय फैंस बड़ी बारीकी से नजर जमाए हुए हैं।

इस दौरान कुछ खिलाड़ी अपने परफॉरमेंस से चौंका रहे हैं और विश्वकप की तैयारी के नजरिए से भरोसा पैदा कर रहे हैं। लेकिन इस दौरान रोहित शर्मा और विराट कोहली (Rohit-Virat) आईपीएल 2022 में जिस तरह की लय में नजर आ रहे हैं, उससे टीम इंडिया पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। पिछले साल टी20 विश्वकप में टीम इंडिया को मिले जख्म ने सभी फैंस का दिल तोड़ दिया था। अब इन दोनों बल्लेबाजों (Rohit-Virat) का फॉर्म वही यादें दोबारा ताजा कर रहा है।

Rohit Sharma बल्लेबाजी के साथ कप्तानी में भी फ्लॉप

रोहित और विराट का फॉर्म टीम इंडिया के लिए चिंता, हाथ से निकल जाएगा एक और ICC खिताब

सबसे पहले बात की जाए टीम इंडिया के कप्तान और सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा की तो आईपीएल 2022 में बैटिंग और कप्तानी दोनों ही मोर्चों पर रोहित का बंटा धार होता हुआ नजर आ रहा है। अब तक मौजूदा सीजन के 7 मैच में उन्होंने 16 की मामूली औसत के साथ सिर्फ 114 रन बनाए हैं, हालांकि पहले मैच में जरूर रोहित ने 41 रन बना कर भरोसा जताया था।

लेकिन इसके बाद एक अच्छा स्टार्ट मिलने के बावजूद रोहित शर्मा बड़ा स्कोर नहीं बना पाए हैं। इसका असर आईपीएल 2022 में उनकी कप्तानी वाली टीम मुंबई इंडियंस पर भी पड़ रहा है, जिसने 7 लगातार मैच हारकर एक शर्मनाक रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है। कप्तानी और बल्लेबाजी में रोहित का यही हाल रहा तो भारत का आईसीसी ट्रॉफी का इंतजार लंबा हो सकता है।

Virat Kohli के बल्ले से अभी भी बड़ी पारी का इंतजार

Virat kohli

वहीं टीम इंडिया के स्टार बल्लेबाज विराट कोहली भी आईपीएल 2022 में रनों के मोहताज हो गए हैं। पिछले साल तक टूर्नामेंट में कप्तानी कर रहे विराट मौजूदा सीजन में इस जिम्मेदारी से मुक्त हो गए हैं। ऐसे सभी को उनके बल्ले से रनों से बरसात देखने की उम्मीद थी। लेकिन अभी तक 7 मैचों में विराट सिर्फ 119 रन बनाने में कामयाब हुए हैं, इस दौरान सुकून की बात ये है कि वे 2 बार 40 का आंकड़ा पार कर चुके हैं।

लेकिन  पिछली 3 पारियों में विराट का सर्वाधिक निजी स्कोर सिर्फ 12 रन का रहा है। ऐसे में निरंतरता से रन बनाने वाले विराट के फैंस इस प्रदर्शन से कतई भी खुश नहीं हो सकते हैं। आईसीसी ट्रॉफी जीतने के लिए भी सभी को कोहली से इससे कई गुना ज्यादा बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है। अगर कोहली अपने ‘विराट’ रूप में वापस लौट आए तो टीम इंडिया को विश्वकप विजेता बनने से कोई नहीं रोक सकता है।