IPL Trophy

आईपीएल विश्व के सबसे चर्चित लीगों में से एक है. कई सारे दिग्गजों तो इसे इंटरनेशनल क्रिकेट से भी ऊपर बता चुके है.आईपीएल को पैसे का लीग भी कहा जाता है. क्योकि इसमें खिलाड़ियों पर इनामो की बारिश होती है. इसके ब्राडकास्टिंग के जरिये मीडिया की भी काफी कमाई होती है. फिलहाल अभी इसके ब्राडकास्टिंग का राईट वाल्ट डिज्नी के पास है. जिसके कॉन्ट्रैक्ट का समय इस साल के बाद समाप्त होने जा रहा है. जिसके बाद इस महीने के अंत में बीसीसीआई इसकी नीलामी कराने जा रही है.

जी और सोनी मिलकर ले सकते आईपीएल प्रसारण का अधिकार

zee sony 1 sixteen nine 1

इंडियन प्रीमियर लीग को न केवल भारत में बल्कि दुनिया भर में सबसे प्रसिद्ध खेल प्रतियोगिताओं में से एक माना जाता है। मेगा इवेंट के प्रसारण अधिकार लेने के लिए बड़ी बड़ी मीडिया ग्रुप्स हमेशा लाइन में रहते हैं. ताजा रिपोर्टों के अनुसार, सोनी और ज़ी एंटरटेनमेंट आपस में मिलकर आईपीएल 2023-27 के प्रसारण अधिकार हासिल करने के लिए बोली लगाएंगे. फिलहाल इसका अधिकार वाल्ट डिज्नी के पास है. जो आगामी नीलामी के लिए एक कठिन प्रतियोगी होगा. वॉल्ट डिज़नी भारतीय मीडिया ग्रुप स्काटार मालिक है जो पहले आईपीएल प्रसारण अधिकारों का एकमात्र मालिक था.

खेल हमारे टारगेट ऑडियंस का विस्तार करेगा: विकास सोमानी

d77c3f4b 82f6 437e 9b92 992302dfdcf2

फाइनेंसियल टाइम्स को दिए एक इंटरव्यू में जी ग्रुप के विलय और अधिग्रहण के प्रमुख विकास सोमानी ने कहा

निश्चित रूप से खेल एक ऐसा क्षेत्र है जिस पर गंभीरता से विचार किया जाना चाहिए. यह न केवल हमारे टारगेट ऑडियंस का विस्तार करेगा बल्कि डिजिटल प्लेटफॉर्म पर हमारी कंटेंट को भी मजबूती पहुचायेगा.

सूत्रों से खबर ये आ रही है कि, और भी कई साड़ी बड़ी कंपनिया इसकी नीलामी में हिस्सा ले सकती है. जिसमे फेसबुक, अमेज़न, और मुकेश अम्बानी की रीलाईंस इंडस्ट्री का नाम भी सामने आ रहा है. आपको बता दू, फेसबुक इससे पहले साल 2017 में इसके लिए कोशिश कर चुकी है.

अगली बार से 10 टीमें होंगी आईपीएल का हिस्सा

ipl points table 3

बीसीसीअई अगले आईपीएल में 2 और नयी  टीम को टूर्नामेंट में उतारने की तैयारी में है. जिसकी नीलामी इसी महीने में 25 अक्टूबर को होने जा रही है. सूत्रों के अनुसार लखनऊ और अहमदाबाद इस दौर में सबसे आगे है. अगले साल के शुरुवात में ही मेगा ऑक्शन भी होने वाली है. ऐसे में 2 नयी टीम के जुड़ने से मैच की संख्या में भी इजाफा होगा. जिससे बोर्ड को मैचों के प्रसारण के जरिये भी मोटी कमाई होने की उम्मीद है.