chahal

भारतीय रिस्ट स्पिनरों ने दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर बहुत शानदार क्रिकेट खेला है, जहां युजवेन्द्र चहल और कुलदीप यादव ने 6 मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला में अफ्रीकी बल्लेबाज़ों को पूरी तरह से पस्त कर दिया है, जिसमें भारत 5-1 से जीता है। दोनों स्पिनरों ने श्रृंखला में 33 विकेट लिए थे। वहीं 3-मैच की सीरीज में पहले टी-20 मैच के दौरान फ़ील्ड पर युजवेन्द्र चहल चश्मा पहने हुए देखे गये है।

yuzvendra

चहल ने मैच के दौरान एक विकेट लिया, जिसमें भुवनेश्वर कुमार ने रिकॉर्ड बनाया है क्योंकि वह खेल के सभी तीन अंतरराष्ट्रीय प्रारूपों में पहले खिलाड़ी बन गए हैं जिन्होंने पारी में 5 विकेट लिए है। कुछ लोगों ने सोचा है कि चहल की आंखों को कुछ समस्या हो रही है इसी कारण वह चश्मा पहने हुए नजर आते है, साथ ही ये मैदान पर रहते हुए उन्हें चश्मे पहने कभी नहीं देखे गए थे। उन्होंने गेंदबाजी करते हुए भी कभी चश्मा नहीं पहना है और फेशन वाले चश्मे पहने है, लेकिन लोग यही माँ रहे है कि उनकी आँखों को जरुर कोई समस्या हुई होगी।

उनके पिता, के.के. चहल ने मिड डे से बात करते हुए बताया कि उनके बेटे ने चश्मा पहना था, क्योंकि वे सावधानी बरत रहे थे। चहल के पिता ने कहा कि दौरे के लिए जाने से पहले, एक आई एक्सपर्ट ने 27 वर्षीय युजवेंद्र को कभी-कभी चश्मे पहनने का सुझाव दिया था “दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर जाने से पहले, यूज़वेन्द्र को कभी-कभी चश्मा पहनने के लिए एक आई एक्सपर्ट ने यही सलाह दी थी. हालांकि वह गेंदबाजी या बल्लेबाजी के दौरान उन्हें नहीं पहनता है, वह क्षेत्ररक्षण करते समय चश्मा पहनता है.” चहल के पिता ने यह सब मिड डे से बात करते हुए बताया है।

NBT image 4

पिता ने बताया कि जब उनका बेटा आयकर निरीक्षक की नौकरी ले रहा था, तो उन्हें चश्मा पहनने की सलाह दी गई थी। उन्होंने कहा कि उनकी दृष्टि कमजोर तो नहीं है, लेकिन उन्हें चश्मे का उपयोग करने की सलाह दी गई थी, उन्होंने मेडिकल परीक्षण किया जो आयकर निरीक्षक के रूप में अपनी नई नौकरी लेने से पहले अनिवार्य था। युजवेन्द्र दक्षिण अफ्रीका से लौटने के तुरंत बाद दिल्ली कार्यालय में शामिल हो जाएगा।

NISHANT

खेल पत्रकार

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *