uv 1428404766
India's Yuvraj Singh celebrates taking the wicket of The Netherlands' Wesley Baressi during their ICC Cricket World Cup group B match in New Delhi March 9, 2011. REUTERS/Adnan Abidi (INDIA - Tags: SPORT CRICKET)

भारतीय स्टार ऑलराउंडर युवराज सिंह को भारत के लिए खेलने के लिए कड़ा संघर्ष करना पड़ रहा है। वह नए-नए अवसरों में बल्ले से संघर्ष करते हुए देखे गए है। यो-यो टेस्ट में पास होने के बाद युवराज का उद्देश्य भारतीय टीम में वापसी करना हैं। हालांकि, युवराज ने कहा है कि मुझे किसी भी पछतावा के कारण इस खेल को छोड़ने की आवश्यकता नहीं है, “मुझे कुछ अतिरिक्त वर्षों के लिए क्रिकेट खेलना है।

Yuvraj Singh Suresh Raina 1504004543

इसके अलावा, उन्होंने कहा कि वह एक सफल टेस्ट कैरियर बना सकते थे और करीब 80 खेल सकता था, लेकिन ये सब नहीं हो पाया क्योंकि एक साल तक ट्यूमर के कारण क्रिकेट से दूर रहना पड़ा इससे मेरा एक साल लगभग खराब हो गया। पिछले साल जनवरी में युवराज ने भारतीय टीम में वापसी की और 11 मैच खेले थे। इसके अलावा, उन्होंने पिछले साल चैंपियंस ट्रॉफी में भारत का प्रतिनिधित्व किया था और वे वेस्टइंडीज में एकदिवसीय श्रृंखला के बाद फिर से बाहर रह गए थे।

Yuvraj 14

युवराज ने स्पोर्टस्टार को बताया,

“जब मैं महसूस करता हूं तब मुझे लगता है कि मैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर रहा हूं और मैं इससे ज्यादा कुछ नहीं कर सकता। मैं अभी भी खेल रहा हूं क्योंकि मैं क्रिकेट खेलने का आनन्द लेना चाहता हूँ और मुझे पसंद है, सिर्फ इसलिए नहीं कि मुझे भारत के लिए खेलना है या मुझे आईपीएल खेलना होगा। हालाँकि मेरी प्रेरणा निश्चित रूप से भारत के लिए खेलना है। मुझे लगता है कि मुझमें अभी भी दो या तीन आईपीएल बाकी हैं।”

2146

युवराज ने आगे कहा कि वह एक लड़ाकू है और कठिन परिस्थितियों से जूझना अच्छा लगता है। मैं एक फाइटर रहा हूं, कठिन परिस्थितियों में मेहनत करता हूं। मुझे कैंसर से पीड़ित लोगों के लिए ताकत का एक स्तंभ बनना पसंद है, और मुझे इन लोगों की मदद करना बहुत अच्छा लगता है। चाहे मैं भारत के लिए खेलता रहू या नहीं, मैं मैदान पर अपना 100 प्रतिशत देता रहूँगा, “उन्होंने कहा।

36 वर्षीय युवराज ने अपने भविष्य की योजना को भी साझा किये। उन्होंने कहा कि ‘कैंसर’ बाद से क्रिकेट खेल रहा हूँ। “मुझे युवा बच्चों का सपोर्ट करना अच्छा लगता है, मुझे युवा पीढ़ी के साथ बातचीत करना पसंद है। कोचिंग मेरे मन में है मैं वंचित बच्चों की पहचान करता हूं और उनके खेल और शिक्षा पर ध्यान केंद्रित करता हूं।”

yuvraj singh

यूवी ने विराट कोहली की तुलना पूर्व कप्तान एमएस धोनी के साथ की। “जाहिर है, वह धोनी से बहुत अलग है, जो शांत है। विराट थोड़े आक्रामक है रिजल्ट हाथों हाथ दिखाते हैं कि वह कप्तान के रूप में बहुत अच्छा कर रहे हैं। धोनी एक बहुत अनुभवी खिलाड़ी है जिन्होंने कई बड़े टूर्नामेंट भी जितवाए है। विराट अपने फिटनेश पर बहुत ज्यादा ध्यान देते है।

NISHANT

खेल पत्रकार

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *