ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले एकदिवसीय मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को भले ही हरा दिया लेकिन इस मैच में भारतीय कप्तान विराट कोहली जीरो पर आउट हो गये थे. जिसकी काफी चर्चा हुई. कई आकड़े प्रस्तुत किये गये, कि कौन सा बल्लेबाज कितने बार आउट हुआ.

सचिन से लेकर विराट तक सभी खिलाड़ी जीरो पर कई बार आउट हुए लेकिन आज हम बात करने जा रहे हैं ऐसे खिलाड़ी के बारे में जो कभी शून्य पर आउट ही नही हुआ. यह खिलाड़ी विदेशी नही बल्कि अपने ही देश का है और इसने भारत को वर्ल्डकप जितवाने में प्रमुख भूमिका निभाई थी.

आउट ही नही कर पाया कोई गेंदबाज-

भारत के पूर्व धाकड़ बल्लेबाज यशपाल शर्मा, जो कभी शून्य पर आउट नही हुए. वह भारत के कभी भी शून्य पर न आउट होने वाले पहले बल्लेबाज हैं. 7 साल तक अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने वाले इस बल्लेबाज अपने 42 वन डे मैचों के 40 पारियों में 883 रन बनाएं. इसमें उन्होंने 4 अर्धशतक भी बनाए.

जबकि टेस्ट मैच में 37 मैचों की 59 पारियों में वह दो शतक और 9 अर्धशतक के साथ 1606 रन बनाए. इतने लम्बे कैरियर के दौरान उन्हें कोई शून्य पर आउट ही नही कर पाया.

वर्ल्ड कप में रहा अहम योगदान-

वर्ल्ड कप 1983 में भारत की जीत के पीछे यशपाल शर्मा का अहम योगदान था. इस टूर्नामेंट में यशपाल द्वारा 240 रन बनाए थे. इस खिलाड़ी की खेली गई पारीयों की बदौलत ही भारतीय क्रिकेट टीम फाइनल तक पहुंच पाई. यशपाल शर्मा ने वर्ल्ड कप 1983 में भारतीय टीम के लिए सबसे ज्यादा रन बनाएं थे. इतना ही नहीं ये समय उनके क्रिकेट करियर का सबसे सुनहरा दौर था.

1983 वर्ल्डकप पर बन रही है फिल्म-

1983 में वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय क्रिकेट टीम पर एक फिल्म बन रही है जिसे कबीर खान प्रोड्यूस कर रहे हैं. आप को बता दें, इस फिल्म ’83’ में अभिनेता रणबीर सिंह कपिल देव का किरदार निभाते हुए नज़र आएंगे.

खिलाड़ियों के किरादर चुनने को लेकर कपिल देव ने कबीर खान से कहा कि इस फिल्म के लिए करेक्टर ढूंढना बहुत मुश्किल काम होगा. कपिल ने कबीर से कहा कि आपको भारत में परफेक्ट किरदार ढूंढने में बहुत मेहनत करनी होगी, क्योकि मेरी टीम में सब एक से बढ़कर एक था, इसलिए ये बहुत मुश्किल टास्क होने वाला है.