WTC-sourav ganguly

न्यूजीलैंड के खिलाफ WTC के फाइनल में करारी शिकस्त के बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने आईसीसी के फॉर्मेट का राग अलापा था. उस दौरान उन्होंने फ्यूचर में एक मैच से टेस्ट चैम्पियन तय करने के बजाए बेस्ट ऑफ थ्री फॉर्मेट का समर्थन किया था. ट्रॉफी गंवाने के बाद कप्तान ने इस पर अपनी बड़ी प्रतिक्रिया दी थी.

सौरव गांगुली ने दी बड़ी प्रतिक्रिया

WTC

दरअसल भारतीय मेजबान का कहना था कि, हम मैच के नतीजे को लेकर ज्यादा परेशान नहीं है. क्योंकि एक मैच से बेस्ट टीम का निर्णय नहीं हो सकता. इसके लिए 3 मैचों की टेस्ट सीरीज होनी चाहिए थी. टीम के कप्तान से पहले सचिन तेंदुलकर, युवराज सिंह और भारतीय कोच रवि शास्त्री ने भी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप (WTC) के विजेता का फैसला बेस्ट ऑफ थ्री के मुताबिक चुनने की बात कही थी.

ऐसे में अब इस पूरे मसले को लेकर बीसीसीआई के मौजूदा अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) की ओर से बड़ी प्रतिक्रिया आई है. उन्होंने हाल ही में द वीक मैगजीन से बातचीत करते हुए कहा कि, जैसा-जैसा सीजन आगे बढ़ेगा आईसीसी कई पहलूओं को देखेगी. फिलहाल, इस मामले पर कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी. थोड़ा इंतजार करना होगा.

आईसीसी के फैसले का किया समर्थन

Jay Shah Sourav Ganguly pti

दरअसल टेस्ट फॉर्मेट को बेहद पसंद करने वाले सौरव गांगुली ने हमेशा ने इसे लोकप्रिय बनाने के लिए कई बार अलग-अलग बयान दे चुके हैं. टेस्ट क्रिकेट की तरफ लोगों को आकर्षित करने के लिए आईसीसी के इस कदम की तारीफ की है. इस बारे में उन्होंने कहा कि, विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप (WTC) कराने का निर्णय अच्छा है.

‘मेरा मानना है कि, ये टेस्ट क्रिकेट का सबसे बड़ा और मजबूत प्रारूप है और इसका फाइनल होना चाहिए. रही बात फाइनल में सिर्फ एक मैच कराने की तो अभी ये सिर्फ एक शुरूआत है. चैम्पियनशिप का पहला सीजन था. आईसीसी को सभी पक्षों की तरफ से फीडबैक मिलेगा और भविष्य में सभी बातों को जरूर ध्यान में रखा जाएगा’.

विराट कोहली ने हार के बाद कही थी ये बात

Virat Kohli WTC 1 1

दरअसल इस साल भारत की भिड़ंत WTC के फाइनल में न्यूजीलैंड के साथ हुई थी. इस मैच में टीम इंडिया को 8 विकेट से करारी हार का सामना करना पड़ा था. जिसके बाद कप्तान विराट कोहली ने अपने बयान में कहा था कि,

‘मैं एक मैच से दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टेस्ट टीम का निर्णय करने के लिए पूरी तरह से सहमत नहीं हूं. बेस्ट टीम कौन सी है, इसका फैसला 2 दिन के खेल से नहीं किया जा सकता है. यदि टेस्ट सीरीज है, तो फिर तीन मैच के जरिए ही चैंपियन टीम को चुनना चाहिए. यदि आप डब्ल्यूटीसी फाइनल को देखें, तो लगेगा कि इस चैंपियनशिप का फैसला करने के लिए 3 टेस्ट की सीरीज होनी चाहिए थी. मैं ये इस वजह से नहीं बोल रहा क्योंकि हम फाइनल नहीं जीते हैं’.