Wriddhiman Saha

IND vs SL: श्रीलंका के खिलाफ खेली जाने वाली आगामी 2 टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए जब से भारतीय टीम की घोषणा हुई है. तब से अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज ऋधिमान साहा (Wriddhiman Saha) लगातार चर्चा में बने हुए हैं. टेस्ट टीम से बाहर किये जाने के बाद पहले तो उन्होंने रणजी ट्राफी से पीछे हटने का फैसला किया और उसके बाद बोर्ड के सदस्यों के साथ हुई बातचीत को सार्वजनिक कर दिया. जिसके बाद अब बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (Saurav Ganguly) के बड़े भाई स्नेहाशीष गांगुली (Snehashish Ganguly) ने उनको लेकर एक बड़ा बयान दिया है.

स्नेहाशीष गांगुली ने साहा को बताया गलत

Wriddhiman Saha

बंगाल क्रिकेट संघ के सचिव और सौरव गांगुली के भाई स्नेहाशीष गांगुली ने बीसीसीआई के अध्यक्ष और मुख्य चयनकर्ता के साथ की हुई बातचीत को सार्वजनिक करने के लिए ऋधिमान साहा (Wriddhiman Saha) को फटकार लगाई है. उनके मुताबिक़ साहा ने यह गलती की है और उन्हें ऐसा बिलकुल नहीं करना चाहिए था. रविवार को पत्रकारों से बात करते हुए स्नेहाशीष ने कहा,

यह मेरी निजी राय है, लेकिन मुख्य चयनकर्ता/बीसीसीआई ने उन्हें जो बताया वह निजी था. उन्हें शायद इसके साथ सार्वजनिक नहीं होना चाहिए था. साथ ही वो रणजी ट्रॉफी भी खेल सकते थे. उन्होंने बाहर रहने के लिए व्यक्तिगत कारणों का हवाला दिया और हमें इसका सम्मान करना होगा. जब भी वह टीम में शामिल होना चाहते हैं, उनके लिए दरवाजे हमेशा खुले हैं.

साहा ने गांगुली और द्रविड़ के ऊपर लगाए हैं आरोप

Wriddhiman Saha

श्रीलंका के साथ होने वाली सीरीज के लिए टीम से बाहर किए जाने के बाद ऋधिमान साहा (Wriddhiman Saha) ने बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (Saurav Ganguly) और हेड कोच राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) के ऊपर कई बड़े आरोप लगाए हैं. साहा (Wriddhiman Saha) के लिए ये कोई चौंकने वाली बात नहीं थी क्योंकि उन्होंने कहा था कि उन्हें चयन समिति के इस फैसले के बारे में राहुल द्रविड़ ने साउथ अफ्रीका में ही बता दिया था. स्पोर्ट्स स्टार को दिए इंटरव्यू में साहा ने बताया था,

“कानपुर में न्यूजीलैंड के खिलाफ 61 रन बनाने के बाद, दादा (सौरव गांगुली) ने मुझे व्हाट्सएप पर बधाई दी और कहा, ‘जब तक मैं यहां हूं (बीसीसीआई को संभाल रहा हूं), आप टीम में रहेंगे’। बीसीसीआई अध्यक्ष के इस तरह के संदेश ने वास्तव में मेरा आत्मविश्वास बढ़ाया। मुझे यह समझने में परेशानी हो रही है कि चीजें इतनी तेजी से कैसे बदली हैं।”

अपने चयन को लेकर रिद्धिमान साहा ने कहा,

“चेतन शर्मा ने आज(शनिवार) प्रेस कांफ्रेंस में जो कहा, वह हमारी बातचीत से बिल्कुल अलग था। उन्होंने मुझे फोन किया था और पूछा था कि क्या मैं रणजी ट्रॉफी खेल रहा हूं। वह फरवरी का पहला हफ्ता था और मैंने उन्हें बताया कि रणजी ट्रॉफी में अभी कुछ समय बाकी है। उन्होंने कहा, ‘ठीक है’। इसके उन्होंने मुझसे कहा कि वह कुछ बताना चाहते हैं कि चयन समिति एक नए चेहरे को दीर्घकालिक सोच के तहत आजमाने की योजना बना रही है। ऐसे में मैं नहीं खेल रहा था और दूसरे विकेटकीपर के रूप में टीम में था और चयन समिति एक नए खिलाड़ी को आजमाकर उसे तैयार करना चाहती थी। उन्होंने मुझसे कहा कि मैं श्रीलंका सीरीज के लिए टीम में नहीं रहूंगा।”