रिद्धिमान साहा-wriddhiman saha

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2-1 से टेस्ट सीरीज जीतकर खिलाड़ी वापस स्वदेश लौट आए हैं.  इस बीच रिद्धिमान साहा के विकेटकीपिंग को लेकर छठ रहे सवालों पर उन्होंने पहली बार चुप्पी तोड़ी है. दरअसल साहा को कंगारूओं के खिलाफ टेस्ट सीरीज में महज 1 एडिलेड मुकाबला खेलने को मिला था, जिसमें उनके बल्ले से रन नहीं निकले.

इसके बाद रिद्धिमान साहा की जगह भारतीय टीम की तरफ से ऋषभ पंत को आखिरी तीनों मैच में उतारा गया, जिनकी बल्लेबाजी ने सबका दिल जीत लिया. लेकिन साहा के विकेटकीपिंग पर बड़ा सवाल खड़ा हो गया. क्योंकि उनके बल्ले से रन भी नहीं निकल रहे हैं. लेकिन पहली बार इन सभी सवालों पर साहा ने बयान दिया है. जिसके चलते वो सोशल मीडिया पर वो ट्रोल हो गए हैं.

विकेटकीपिंग पर बयान देकर ट्रोल हुए रिद्धिमान साहा

रिद्धिमान साहा-wriddhiman saha

रिद्धिमान साहा ने हाल ही में पंत और अपनी तुलना को लेकर उठ रहे विवाद पर बयान देते हुए कहा है कि,

‘मैं साल 2018 से ही इस तरह की बातें सुन रहा हूं. लेकिन मैं अपना काम करने में ज्यादा विश्वास करता हूं और मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ा है कि, पंत किस तरह से बल्लेबाजी कर रहे हैं. इसलिए मैं यह सोचकर खुद के खेल को बदलना नहीं चाहता. ऐसे में अब टीम प्रबंधन को यह फैसला लेना है कि स्टंप के पीछे कौन खड़ा होगा?’

विकेटकीपर को स्पेशलिस्ट होना जरूरी

रिद्धिमान साहा-wriddhiman saha

आगे बात करते हुए साहा ने अपनी बल्लेबाजी को लेकर कहा कि,

‘मैंने एक गलत रास्ता चूस किया, लेकिन मिडविकेट एक ऐसी चीज है जिसे मैं खेलना पसंद करता हूं. कई बार इस तरह की स्थिति में आपकी एक गलती मुकाबले के परिणाम को बदल देती है. लेकिन विकेटकीपिंग एक स्पेशलिस्ट का काम है, खासकर टेस्ट क्रिकेट में. मैं हर उस कैच को पकड़ने का दावा नहीं कर रहा, लेकिन एक स्पेशलिस्ट को ऐसा ही रहना चाहिए’.

यहां देखें ट्वीट