Wriddhiman Saha)

Wriddhiman Saha: भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर Wriddhiman Saha हाल ही में चल रहे रणजी ट्रॉफी का हिस्सा नहीं बन पाए है। साथ ही उन्हे अब श्रीलंका के खिलाफ होने वाले टेस्ट मैच से भी बाहर कर दिया गया है। टीम से बाहर होने के बाद क्रिकइंफ़ो से बात करते हुए ऋद्धिमान साहा ने कुछ ऐसे खुलासे किए जो सबको चौका देने वाले हैं। इसके साथ ही उन्होंने अपनी रणजी ट्रॉफी का हिस्सा नहीं बनने की वजह भी बताई।

Wriddhiman Saha नहीं बन पाए रणजी ट्रॉफी का हिस्सा

Wriddhiman Saha

Wriddhiman Saha से जब पूछा गया कि वह रणजी ट्रॉफ़ी क्यों नहीं खेल रहे हैं? तो उन्होंने कहा,

”इसका चयन से कोई लेना-देना नहीं है। कुछ समय पहले मेरी पत्नी को डेंगू हो गया था और वह अब भी इससे पूरी तरह से उबर नहीं पाई हैं। हमारे दो बच्चे भी हैं। मुझे अपने परिवार को भी समय देना है। इसलिए मैंने क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ़ बंगाल (कैब) से स्पष्ट कह दिया कि मैं व्यक्तिगत कारणों से इस सीज़न में अनुपलब्ध रहूंगा।”

‘चयनकर्ताओं को है नए चेहरे की तलाश’

Wriddhiman Saha

Wriddhiman Saha से जब उनके टेस्ट टीम में चयन ना होने की बात पर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा,

”मैं कभी गुस्सा नहीं होता हूं और ना अभी हूं। मुझे इस चयन नर्णिय के बारे में दक्षिण अफ़्रीका में ही बता दिया गया था, लेकिन मैंने इस बारे में किसी को नहीं बताया। अब जब टीम का चयन हो गया है, तो मैंने सिर्फ उन सवालों का ज़वाब दिया है, जो मुझसे पूछा गया।”

Wriddhiman Saha ने क्रिकइंफ़ो से बात करते हुए बताया कि उन्हे साउथ अफ्रीका सीरीज के दौरान ही राहुल द्रविड़ ने बता दिया था कि चयनकर्ता अब उनकी जगह नए चेहरे की तलाश में है। साहा ने कहा,

”दक्षिण अफ़्रीका सीरीज़ के बाद राहुल भाई ( राहुल द्रविड़) ने मुझे कमरे में बुलाया और कहा, ‘ऋद्धि, मुझे पता नहीं कि मुझे यह कैसे कहना है, लेकिन चयनकर्ता और टीम प्रबंधन अब एक नए चेहरे की तलाश में हैं। चूंकि आप हमारे पहले विकेटकीपर नहीं हैं और आप प्लेइंग इलेवन में भी नहीं हैं, इसलिए हम अब किसी युवा विकेटकीपर को टेस्ट दल में रखना चाहते हैं।” इसके जवाब में साहा ने कहा  “ओके, कोई बात नहीं।”

इसके बाद राहुल द्रविड़ ने साहा से कहा,

“आप अगर श्रीलंका के ख़िलाफ़ टीम में नहीं चुने जाते हैं, तो आश्चर्यचकित मत होइएगा। तब तक अगर आप कोई और नर्णिय लेना चाहते हैं, तो ले सकते हैं।“

राहुल को इसका जवाब देते हुए ऋद्धिमान ने कहा,

“मैं संन्यास के बारे में नहीं सोच रहा। मैंने क्रिकेट खेलना इसलिए शुरू किया था क्योंकि मुझे यह खेल खेलना पसंद है और मैं तब तक खेलूंगा जब तक यह मुझे अच्छा लगेगा।”

‘आपको चयन के लिए आगे कभी नहीं कंसीडर नहीं किया जाएगा।’

Wriddhiman Saha

Wriddhiman Saha ने बताया

“10-12 दिन बाद मुझे चेतन शर्मा (चयन प्रमुख) का फ़ोन आया। उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या आप रणजी ट्रॉफ़ी में खेल रहे हैं? मैंने कहा कि मैंने अभी कोई नर्णिय नहीं लिया है। फिर उन्होंने वही बात दोहराई जो राहुल भाई ने कही थी। फिर मैंने उनसे पूछा कि क्या यह बस इस सीरीज़ के लिए है या फिर ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड सीरीज़ के लिए भी? तब उन्होंने दो सेकंड रुकते हुए कहा, अब आपको चयन के लिए आगे कभी नहीं कंसीडर नहीं किया जाएगा।”

उन्होंने कहा,

“फिर मैंने उनसे पूछा क्या यह मेरे प्रदर्शन और फ़िटनेस की वज़ह से है या मेरी उम्र की वज़ह से? उन्होंने कहा फ़ॉर्म और फ़िटनेस की कोई बात नहीं लेकिन अब हम नए चेहरों को टीम में देखना चाहते हैं और ऐसा बिना आपको ड्रॉप किए संभव नहीं है। इसके बाद उन्होंने कहा कि अगर आप रणजी ट्रॉफ़ी खेलना चाहते हैं तो यह आपका नर्णिय है।”