sehwag sachin 0601getty 750
Prev1 of 4
Use your ← → (arrow) keys to browse

देश के लिए खेलना हर टीम के किसी भी खिलाड़ी का सपना होता हैं. मगर देश के लिए वही खेलता है जिसके अंदर अलग ही क्लास पाई जाती है. पूरे विश्व में अभी तक मात्र 12 विश्व कप खेले गए है जिसमे ऑस्ट्रेलिया ने 5 बार ख़िताब अपने नाम किया है.

वही भारत टीम ने दो बार विश्व कप अपने नाम किया हैं. मगर गौर करने की चीज़ है कि भारतीय टीम को दूसरे विश्व कप को जीतने के लिए काफी लंबे समय तक इंतज़ार करना पड़ा था. लेकिन जब भारतीय टीम ने अपना दूसरा विश्व कप अपने नाम किया था. तब उस समय टीम के कप्तान महेद्र सिंह धोनी थे.

लेकिन विश्व कप के दौरान कुछ ऐसा हो जाता है कि देश की बड़ी-बड़ी टीमों को अपना विश्व कप हारना पड़ जाता हैं. तो आज हम इस आर्टिकल के जरिए बताते है कि वो 4 कौन से मौके है जब खिलाड़ियों ने कैच छोड़ अपने देश के लिए विश्व कप छोड़ा.

1. शेन वाटसन कैच विरुद्ध पाकिस्तान

Shane Watson of Australia bats 10 1

साल 2015 न्यूज़ीलैंड और ऑस्ट्रेलिया में संयुक्त रूप से वर्ल्ड कप खेला गया था. जहा उस टूर्नामेंट के तीसरे क्वार्टरफाइनल में पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया एक-दूसरे के सामने थे. वही पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 213 रन बनाकर ऑस्ट्रेलियाके सामने रखे.

लेकिन 214 का रनों का लक्ष्य पूरा करना ऑस्ट्रेलिया के लिए आसान बात नहीं थी. तो वही इस मैच के दूसरी इनिंग में ऑस्ट्रेलिया ने 59 रनों पर अपने तीन विकेट खो दिए थे. वही शेन वाटसन ऑस्ट्रेलिया को संभाले हुए थे. उसी दौरान उन्होंने पाकिस्तान के गेंदबाज वहाब रियाज की गेंद पर ऊचा शॉट लगा दिया.

लेकिन गनीमत ये रही कि पाकिस्तान के खिलाड़ी राहत अली ने उनका कैच छोड़ दिया और फिर उसके बाद शेन वाटसन ने 64 रनों की पारी खेलते हुए. पाकिस्तान के मुह से विश्व कप छीन लिया और विश्व कप अपने नाम कर टीम को जिताया.

Prev1 of 4
Use your ← → (arrow) keys to browse