रविवार, 23 जुलाई को एक महीने से चला आ रहा आईसीसी महिला एकदिवसीय विश्व कप खत्म हो गया. इंग्लैंड और वेल्स में हुआ महिला विश्व कप मेजबान देश इंग्लैंड ने जीतकर अपने नाम किया. महिला एकदिवसीय विश्व कप के फाइनल और निर्णायक मुकाबलें में मेजबान इंग्लैंड की टीम ने ख़िताब की सबसे प्रबल दावेदार टीम इंडिया को फाइनल मैच में 9 रनों के अंतर से हराकर विश्व कप कब्ज़ा किया.

हारकर भी जीत गये हम 

(Photo by : Getty Images)

टीम इंडिया भले ही विश्व कप के फाइनल मैच में हार गयी हो, लेकिन फाइनल तक पहुंचना भी वाकई में एक बड़ी बात हैं. भारतीय टीम ने जिस अंदाज में मिताली राज की अगुवाई में खेल दिखाया, वह अद्दभुत और बहुत ही ज्यादा काबिले तारीफ रहा. हर जगह भारतीय महिला क्रिकेट टीम की प्रसंशा की जा रही. बॉलीवुड जगत हो या पुरुष क्रिकेट टीम के खिलाड़ी सभी भारतीय महिला क्रिकेट टीम की तारीफों में कसीदे पढ़ रहे हैं. सभी एक ही सुर में एक ही बात कह रहे हैं ‘हमारी छोरियां छोरों से कम नहीं हैं.’

यह खिलाड़ी रही सबसे बड़ी हीरो 

(Photo by : Getty Images)

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की उपकप्तान हरमनप्रीत कौर इस विश्व कप में भारतीय टीम क्रिकेट टीम की सबसे बड़ी नायिका और सबसे बड़ी रॉकस्टार सिद्ध हुई. विश्व कप के सेमीफाइनल मुकाबलें में हरमनप्रीत कौर ने एक ऐसी पारी खेली, कि विश्व क्रिकेट मानों सन्न ही रहा गया. ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध सेमीफाइनल मैच में हरमनप्रीत कौर के बल्ले से 115 गेंदों में 171 रनों की नाबाद पारी निकली. अपनी अद्दभुत पारी के दौरान हरमनप्रीत कौर ने 20 चौके और 7 आसमानी छक्कें लगाये.

फाइनल मैच में भी हरमनप्रीत कौर ने शानदार पारी खेली और 51 रन बनाये. भले ही महिला विश्व कप खत्म हो गया हो, लेकिन हरमनप्रीत कौर का नाम आज भी बच्चे बच्चे की जुबान पर सिर चढ़कर बोल रहा हैं. सभी हरमनप्रीत कौर की तूफानी बल्लेबाज़ी के दीवाने हो उठे हैं.

क्या हैं 84 नंबर की जर्सी का राज 

(Photo by : Getty Images)

जब से हरमनप्रीत कौर की लोकप्रियता बढ़ी हैं, तब से खेल प्रेमी उनसे जुड़ी हर के बात में दिलचस्पी दिखाने लगे हैं. आप सभी की जानकारी के लिए बता दे, कि हरमनप्रीत कौर अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 84 नंबर की जर्सी पहनकर मैदान पर उतरती हैं. सभी खेल प्रेमियों केएच इस बात की उत्सुकता लगातार बढ़ती जा रही हैं, कि आखिर हरमनप्रीत कौर 84 नंबर की जर्सी का राज क्या हैं.

आइये हम आपको बताते हैं, कि हरमन की 84 नंबर वाली जर्सी का राज आखिर हैं क्या. दरअसल हरमनप्रीत कौर यह जर्सी एकजुटता के लिए पहनती हैं. 84 के दंगों में सिख समुदाय पर हमले हुए थे और उसी की एकजुटता को बरकरार रखने के लिए हरमन 84 नंबर वाली जर्सी पहनती हैं. आप सभी की जानकारी के लिए बता दे, कि 84 के सिख विरोधी दंगे भारतीय इतिहास का एक सबसे दुखद और शर्मनाक अध्याय में से एक हैं. हरमनप्रीत कौर अपनी सफलता को उन सभी लोगों को समर्पित करती हैं, जो इसके शिकार हुए थे.

 

(Photo by : Getty Images)