wasim jaffer-warner

भारतीय महिला हॉकी टीम (Indian Women Hockey Team) ने ऑस्ट्रेलिया को हराकर बड़ी उपलब्धि हासिल की है. ऐसे में वसीम जाफर (Wasim jaffer) बिना ट्वीट किए कहां पीछे रहने वाले थे. गुरजीत कौर (Gurjeet Kaur) के गोल और रक्षापंक्ति के बेहतरीन प्रदर्शन से भारत ने टोक्यो ओलंपिक खेलों (Tokyo Olympics 2020) में सोमवार को ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से शिकस्त देते हुए पहली बार ओलंपिक के सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की करते हुए शानदार इतिहास रचा है.

वसीम जाफर (Wasim jaffer) ने शानदार अंदाज में महिला हॉकी टीम को दी बधाई

wasim jaffer

इस जीत के बाद से ही गोलकीपर और भारतीय महिला टीम की जमकर तारीफ हो रही है. चारो तरफ सिर्फ भारत की गूंज सुनाई दे रही है. हॉकी टीम की इस सफलता पर सोशल मीडिया पर भी बधाईयों का तांता लगा हुआ है.  फैन्स से लेकर क्रिकेट जगत, खेल जगत और बाकी तमाम हस्तियां भी अपनी टीम को जमकर बधाईयां दे रहे हैं. इसी बीच वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) ने भी महिला टीम को बधाई देते हुए लिखा है कि, इतनी खुशी शायद किसी जीत पर महसूस हुई होगी.

इसके साथ ही टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाज वसीम जाफर (Wasim Jaffer) ने भी भारतीय महिला हॉकी टीम को खास अंदाज में बधाई दी है और शाहरुख खान (Shahrukh Khan) की फिल्म ‘चक दे’ (Chak De) के गाने की कुछ लाइनें अपने ट्विटर हैंडल पर साझा की हैं. उन्होंने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से एक ट्वीट करते हुए लिखा कि,

“चुटकी कोई काटो न है हम तो होश में, क़दमों को थामो यह है उड़ते जोश में, बादल पे पाँव है, या छूटा गाँव है, अब तो भई चल पड़ी अपनी यह नाव है. टोक्यो ओलंपिक में इतिहास रचा. बधाई हो भारतीय महिला टीम. हम आप पर बहुत-बहुत गर्व करते हैं”.

आईपीएल टीमें समेत डेविड वॉर्नर ने भी भारतीय महिला के प्रदर्शन पर पढ़े कसीदे

photo 2021 08 02 14 14 53

वीरेंद्र सहवाग और वसीम जाफर (Wasim jaffer) के अलावा आईपीएल टीमों के साथ ही वीवीएस लक्ष्मण, जय शाह, इशांत शर्मा ने भी भारतीय महिला हॉकी खिलाड़ियों को ढेर सारी बधाईयां दी है. सनराइजर्स हैदराबाद के पूर्व कप्तान और ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज डेविड वॉर्नर में भी भारतीय महिला हॉकी टीम को बधाई देने से पीछे नहीं छूटे हैं. बात करें खेल की तो गुरजीत ने 22वें मिनट में पेनल्टी कार्नर पर यह अहम गोल किया था.

सविता के प्रदर्शन की हो रही जमकर तारीफ

photo 2021 08 02 14 14 02

इसके बाद टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया की ओर से एक भी गोल नहीं होने दिया और इसके लिए पूरी टीम ने अपनी ताकत झोक दी थी. इस दौरान भारतीय महिला गोलकीपर सविता ने शानदार प्रदर्शन किया. उनके इस प्रदर्शन में बाकी खिलाड़ियों ने भी पूरा योगदान दिया. भारतीय टीम मास्को ओलंपिक 1980 में चौथे स्थान पर रही थी. लेकिन, सिर्फ 6 टीमों को ही जगह मिली थी. इस दौरान मैच राउंड रोबिन आधार पर खेले गए थे.