Washington Sundar
Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

भारतीय क्रिकेट टीम के स्टार ऑलराउंडर खिलाड़ी रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) को ऑस्ट्रेलिया दौरे पर तीसरे टेस्ट मैच में अंगूठे में फ्रैक्चर हुआ था। जिसके चलते वह इंग्लैंड के साथ खेली जा रही टेस्ट सीरीज का हिस्सा नहीं हैं। इसके बाद टी20आई सीरीज में भी वह उपलब्ध नहीं रहने वाले हैं।

इन सबके बीच भारत के युवा खिलाड़ियों ने सभी का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया है। ऑफ स्पिनर वॉशिंगटन सुंदर और अक्षर पटेल ने केवल स्पिन गेंदबाजी इकाई को मजबूती देते हैं, बल्कि वह बल्लेबाजी इकाई को भी गहराई दे रहे हैं।

लेकिन क्या आप जानते हैं कि ये दोनों स्पिनर भले ही अच्छी बल्लेबाजी व गेंदबाजी कर लें, लेकिन वह ऑलराउंडर खिलाड़ी रविंद्र जडेजा की जगह नहीं ले सकते हैं। तो आइए इस आर्टिकल में आपको वह 3 कारण बताते हैं, जिसके चलते वॉशिंगटन सुंदर और अक्षर पटेल टीम इंडिया में रविंद्र जडेजा की जगह नहीं ले सकते हैं।

Ravindra Jadeja की जगह नहीं ले सकते सुंदर-अक्षर

1- विदेशों में भी शानदार स्पिन गेंदबाजी

रविंद्र जडेजा

भारत के स्टार ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) के गेंदबाजी आंकड़ों पर यदि आप गौर करेंगे, तो आप देख सकते हैं कि ना केवल भारत में बल्कि विदेशों में भी शानदार गेंदबाजी करते हैं।

जडेजा ने भारत में अब तक 33 टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें 157 विकेट चटकाए हैं, इस दौरान इनका औसत 21.06 का रहा है। वहीं जब वह विदेशों परिस्थितियों में खेले गए 18 मैचों में 32.44 के औसत से 63 विकेट चटका चुके हैं, जिसमें उनका औसत 32.44 का रहा है।

ये आंकड़ें साबित करते हैं कि घर पर तो जडेजा का दबदबा रहता ही हैं, साथ ही विदेशों में भी वह बेहद उपयोगी स्पिनर हैं। वहीं अब तक वॉशिंगटन सुंदर ने विदेश में 1 मैच खेला है, 4 विकेट चटकाए हैं और अक्षर का अभी विदेशी सरजमीं पर खेलना बाकी है।

Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse