kapil dev

इंग्लैंड सीरीज का आगाज 4 अगस्त से होने वाला है। इस 5 मैचों की टेस्ट सीरीज पर सभी टकटकी लगाए बैठे हैं। Team India अपनी पूरी जान लगाकर इस सीरीज को जीतना चाहेगा, क्योंकि 2007 के बाद से भारत ने इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज नहीं जीती है। अब पूर्व दिग्गज बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman) ने भारतीय टीम को वह मूलमंत्र दिया है, जिसकी मदद से टीम इंग्लैंड को 5 मैचों की टेस्ट सीरीज में मात दे सकती है।

विराट-शास्त्री को करना होगा सुधार

भारत के पास बल्लेबाजी इकाई में एक से बढ़कर एक बल्लेबाज मौजूद हैं। लेकिन कई बार ऐसा देखा जाता है कि जब भारत के विकेट गिरने शुरु होते हैं, तो कोई बल्लेबाज जिम्मेदारी नहीं ले पाता, WTC फाइनल में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला था। अब VVS Laxman ने भारत के कप्तान विराट कोहली व कोच रवि शास्त्री को इसमें सुधार करने का सुझाव दिया है। स्टार स्पोर्ट्स चैनल के कार्यक्रम गेम प्लान में लक्ष्मण ने कहा,

“एक चीज, जिसको विराट कोहली और रवि शास्त्री को सुलझाना होगा, वो ये कि बल्लेबाज मैच जिताऊ प्रदर्शन करें। विदेशी परिस्थितियों, खास तौर पर इंग्लैंड में, वो (भारतीय टीम) एक या दो बल्लेबाजों पर जरूरत से ज्यादा निर्भर रहते हैं।”

VVS Laxman ने दिया जीत का मंत्र

क्रिकेट पंडितों का मानना है कि भारत के पास इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज जीतने का ये सर्वश्रेष्ठ मौका है, क्योंकि टीम लंबे वक्त से इंग्लैंड में ही है। वीवीएस ने टीम इंडिया को जीत दर्ज करने के लिए मूलमंत्र देते हुए कहा है कि यदि भारत को इंग्लैंड को हराना है, तो बैटिंग यूनिट को एक साथ अच्छा करना होगा। VVS Laxman ने कहा,

“अगर आप इंग्लैंड को 5 मैचों की सीरीज में हराना चाहते हो, तो आपको चाहिए कि बैटिंग यूनिट एक साथ अच्छा प्रदर्शन करे। आप सिर्फ एक या दो बल्लेबाजों से अच्छे खेल की उम्मीद नहीं कर सकते और फिर सीरीज जीतने की उम्मीद नहीं कर सकते और इस पहलू को रवि शास्त्री और विराट कोहली दुरुस्त करना चाहेंगे।”

भारतीय बल्लेबाजी में है दम

VVS Laxman

टीम इंडिया में एक से बढ़कर एक बल्लेबाज मौजूद हैं। विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, चेतेश्वर पुजारा जैसे दिग्गजों का साथ देने के लिए ऋषभ पंत मौजूद हैं, जिन्होंने पिछले कुछ महीनों में खुद को साबित किया है कि वह टेस्ट मैच को जिता सकते हैं। वहीं ओपनिंग के लिए रोहित शर्मा व मयंक अग्रवाल मैदान पर उतरेंगे। इस बात में कोई शक नहीं है कि यदि भारत को बड़ा स्कोर बनाना है, तो पुछल्ले बल्लेबाजों को अच्छा प्रदर्शन करना होगा।