Vishnu Solanki

Ranji Trophy 2022: बड़ौदा और चंडीगढ़ (Baroda vs Chandigarh) के बीच जारी मैच में बड़ौदा (Baroda Cricket Team) के बलेबाज विष्णु सोलंकी (Vishnu Solanki) ने अपनी बल्लेबाजी से काफी धूम मचाया. उनकी 104 रनों की शानदार शतकीय पारी की बदौलत बरौदा ने पहली पारी में 517 रनों का पहाड़ सा स्कोर खडा किया. जिसके बाद उनकी इस पारी की काफी तारीफ़ हो रही है. इस तारीफ़ के पीछे का सबसे बड़ा कारण है कि, हाल ही में कुछ ही दिन पहले उनकी बेटी का निधन हो गया है.

बेटी के संस्कार से वापस लौट जमाया शतक

Vishnu Solanki

वडोदरा के लिए नंबर 5 पर बल्लेबाजी करने आये विष्णु सोलंकी (Vishnu Solanki) ने 165 गेंदों पर 12 चौके की मदद से 104 रनों की शानदार शतकीय पारी खेली. हालांकि इस दौरान उन्होंने किसी भी तरह का कोई जश्न नहीं मनाया. शायद उनका मन अभी भी अपनी उस बेटी के साथ ही है. जिनकी कुछ ही दिन पहले देहांत हो गया.

हिंदुस्‍तान टाइम्‍स की खबर के अनुसार, सोलंकी (Vishnu Solanki) को 11 फरवरी की आधी रात को बेटी के जन्‍म की खबर मिली, मगर 24 घंटे के भीतर ही उनकी बेटी की मौत हो गयी. वो उस समय टीम के साथ भुवनेश्‍वर में थे. बेटी के अंतिम संस्‍कार में शामिल होने के लिए उन्‍होंने वडोदरा के लिए उड़ान भरी और 3 दिन के अंदर वापस टीम से जुड़ गए.

लोग कर रहे हैं सेल्यूट

Vishnu Solanki

बेटी का संस्कार कर एक पिटा की जिम्मेदारी निभाने के बाद सोलंकी (Vishnu Solanki) ने अपनी दूसरी जिम्मेदारी को निभाने का फैसला लेते हुए मैदान पर वापसी की और शानदार शतक जड़ा. जिसके बाद हर कोई सोलंकी को सेल्‍यूट कर रहा है.

सौराष्‍ट्र के विकेटकीपर बल्‍लेबाज शेल्‍डन जैक्‍सन (Sheldon Jackson) ने ट्वीट किया कि विष्‍णु और उनके परिवार को सेल्‍यूट. यह किसी भी तरह से आसान नहीं है. कई और शतक और सफलता के लिए शुभकामना. वडोदरा क्रिकेट एसोसिएशन के सीईओ शिशिर हट्टंगडी ने कहा कि, सोलंकी असल जिंदगी के हीरो है.