Sehwag furious over the injustice done to the Indian hockey team, accused of cheating

Virender Sehwag: कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 (CWG 2022) का आयोजन इंग्लैंड के बर्मिंगम में जारी है. इन दिनों गोल्ड मेडल अपने नाम करने के लिए हर एक एथलीट पूरा जान झोंक रहा है. लेकिन, शुक्रवार की रात भारतीय महिला हॉकी टीम के साथ सेमीफाइनल में कुछ ऐसा हुआ जिसने हर किसी को हैरत में डाल दिया. इस मामले के चलते सिर्फ फैंस का ही नहीं बल्कि पूर्व दिग्गज भारतीय क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) का भी गुस्सा सातवें आसमान पर है. इसका अंदाजा आप उनके ट्वीट से लगा सकते हैं.

भारतीय हॉकी टीम के साथ हुई नाइंसाफी के खिलाफ बोले Virender Sehwag

virendra sehwag angry on CWG 2022 indian hockey team

दरअसल भारतीय हॉकी टीम को सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हार झेलनी पड़ी. कंगारूओं ने पेनाल्टी शूट आउट में जीत हासिल की. लेकिन, भारतीय फैंस इस फैसले से बिल्कुल भी खुश नहीं हैं और वो टीम के साथ चीटिंग होने का आरोप लगा रहे हैं. इस समय ट्विटर पर चीटिंग नाम से एक हैशटैग भी ट्रेंड कर रहा है.

इसी बीच वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) ने भी एक ट्वीट कर अंपायर के पूरे फैसले पर नाराजगी जताई है. उन्होंने अपने ऑफिशियल अकाउंट से एक ट्वीट करते हुए लिखा,

“पेनल्टी मिस हुआ ऑस्ट्रेलिया से और अंपायर बोले, सॉरी क्लॉक स्टार्ट नहीं हुआ. ऐसा पक्षपात क्रिकेट में पहले भी हुआ करता था जब तक हम महाशक्ति नहीं बन गए, हॉकी में भी हम जल्द बनेंगे और सभी घड़ियां समय पर शुरू हो जाएंगी. हम सभी को हमारी लड़कियों पर गर्व है.”

क्या था सेमीफाइनल में घटा पूरा मामला

cwg 2022 cheating with indian women's hockey team in semifinal clock problem australia

अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर सेमीफाइनल मुकाबले में ऐसा क्या हुआ कि भारतीय फैंस और सहवाग (Virender Sehwag) इस तरह से भड़क गए हैं तो हम आपको बता दें कि शुक्रवार की रात पूरे वक्त तक दोनों ही टीमें एक-एक की बराबरी पर रहीं. इसके बाद मुकाबले का फैसला पेनाल्टी शूटआउट से किया जाना था. यहां भारतीय टीम को ऑफीशियल गलती का नुकसान उठाना पड़ा.

टीम इंडिया की कप्तान और गोलकीपर सविता पूनिया ने पहला पेनाल्टी शूटआउट बचा लिया. इसके ठीक बाद रेफरी ने बताया कि शॉट के दौरान घड़ी शुरू नहीं थी. लिहाजा ऑस्ट्रेलिया को दोबारा पहला शॉट मारने का मौका मिलेगा. यहीं से मैच का रूख पूरी तरह से पलट गया. इसके बाद भारतीय टीम की खिलाड़ी एक भी गोल नहीं कर सकीं. जबकि ऑस्ट्रेलिया ने तीनों कोशिशों में 3 गोल कर डाले. टीम इंडिया जिस तरह से सेमीफाइनल से बाहर हुई उसको लेकर बुरी तरह से अंपायर पर  काफी नाराज हैं.