befunky 2022 9 3 16 35 29

Virender Sehwag: भारतीय टीम ने टी20 वर्ल्ड कप 2022 में शानदार प्रदर्शन कर पहले मुकाबले में पाकिस्तान के खिलाफ़ बड़ी जीत हासिल की. इस जीत के बाद टीम इंडिया सिडनी पहुँच गयी थी जहाँ पर 27 अक्टूबर को नीदरलैंड के खिलाफ मैच खेले जाना था. ऐसे में टीम इंडिया को ख़राब बंदोबस्त से दो चार होना पड़ रहा है. टीम को ठंडा खाना दिए जाने को लेकर विवाद अब और गर्म होता जा रहा है. टीम इंडिया के दिग्गज खिलाड़ी वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) ने भी सोशल मीडिया पर अपना रिएक्शन दिया है.

Virender Sehwag ने दिया ऐसा दिया रिएक्शन

Virender Sehwag
Virender Sehwag

सिडनी में प्रैक्टिस सेशन के दौरान टीम इंडिया को सही खाना नहीं परोसा गया, बताया जा रहा है कि टीम मैनेजमेंट इससे खफा है और आईसीसी को शिकायत दी गई है. अब इस विवाद पर टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) ने भी कड़े शब्दों में निंदा करते हुए सोशल मीडिया पर अपनी बात राखी है. उन्होंने लिखा,

 ‘वो दिन गए जब मुझे लगता था कि वेस्टर्न कंट्रीज में अच्छी मेहमाननवाजी होती थी. लेकिन, अब मुझे लगता है कि भारत ही है, जहां अच्छी सुविधाएं मौजूद.’ 

क्या है पूरा विवाद?

309040769 665506601590931 7816363068336348595 n

सिडनी में होने वाले मैच से पहले भारतीय टीम ने प्रैक्टिस सेशन में हिस्सा लिया, लेकिन इसके बाद टीम इंडिया के प्लेयर्स को ठंडा खाना दिया गया, जिसमें सैंडविच, टमाटर और खीरा शामिल था. इससे भारतीय प्लेयर्स काफी नाराज हुए और इसकी शिकायत मैनेंजमेंट से की. खिलाड़ियों ने खाने की गुणवत्ता पर भी सवाल उठाए. इसके बाद उन्हें प्रैक्टिस सेशन के लिए 42 किलोमीटर दूर ग्राउंड दिया गया.

बीसीसीआई ने दी कुछ ऐसी प्रतिक्रिया

िपुलप

मामले की जानकारी रखने वाले भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के एक अधिकारी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर कहा,

”यह किसी तरह के बहिष्कार जैसा नहीं है. कुछ खिलाड़ियों ने फल और फलाफेल लिया लेकिन हर कोई दोपहर का भोजन करना चाहता था और इसलिए उन्होंने होटल वापस जाकर खाना खाया. समस्या यह है कि आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) गर्म भोजन नहीं दे रहा है.”

द्विपक्षीय श्रृंखला में मेजबान संघ खानपान का इंतजाम देखता है और वे हमेशा ट्रेनिंग सत्र के बाद गर्म भारतीय भोजन उपलब्ध कराते हैं लेकिन आईसीसी के लिए, नियम सभी देशों के लिए समान हैं. दो घंटे की कड़ी ट्रेनिंग के बाद आप एवोकाडो, टमाटर और खीरे के साथ ठंडा सैंडविच (ग्रिल भी नहीं) नहीं खा सकते. सरल शब्दों में यह अपर्याप्त पोषण है.” 

यह देखना दिलचस्प होगा कि मुद्दा नहीं सुलझने की स्थिति में क्या बीसीसीआई कोई कदम उठाता है और आगामी ट्रेनिंग सत्रों के लिए गर्म भारतीय भोजन की व्यवस्था करता है