क्रिकेट जगत की नजर इस वक्त इंग्लैंड के बर्मिंघम मैदान पर टिकने को तैयार है। 1 अगस्त को इस मैदान पर इंग्लैंड अपने टेस्ट इतिहास का 1000वां मुकाबला खेलने वाला है। जहां एक तरफ इंग्लैंड अपने इस इतिहास को पन्नों में जीत के साथ दर्ज कराना चाहेगा, वहीं भारतीय कप्तान विराट कोहली इस जीत में अर्चन डाल सकते हैं। विराट पिछले चार सालों से अच्छे लय में खेल रहे हैं और इस समय वह किसी भी टीम के खिलाफ रन बनाने की क्षमता रखते हैं।

विराट का 2014 इंग्लैंड दौरा निराशाजनक रहा था

2014 में भारत को टेस्ट श्रृंखला में 3-1 से हार का सामना करना पड़ा था। इस श्रृंखला में विराट का बल्ला बिल्कुल शांत रहा था। कुल पांच टेस्ट मुकाबलों में विराट के बल्ले से 13.4 की औसत से 134 रन बने थे। लेकिन इस श्रृंखला के बाद विराट ने अपने बल्ले की बदौलत टेस्ट क्रिकेट में अपने रनों की काया पलट के रख दी।

2014 इंग्लैंड दौरे के बाद विराट ने टेस्ट क्रिकेट में रनों के सूखे को दूर किया

2014 इंग्लैंड दौरे तक अगर विराट का टेस्ट स्कोरकार्ड देखे तो उन्होंने कुल 26 टेस्ट मुकाबलों में 39 कि औसत से 6 शतक मार 1855 रन बनाए हैं। जबकि 2014 इंग्लैंड दौरे के बाद कुल 37 मुकाबलों में 15 शतक के साथ 64 की औसत से 3699 रन बनाए हैं।

कोहली का टेस्ट करियर

pic credit: bcci

विराट कोहली क्रिकेट इतिहास के महान बल्लेबाजों में गिने जाते हैं। उन्होंने अपने टेस्ट करियर में भारत के लिए कुल 66 टेस्ट मुकाबले खेले हैं। जिसमे 53.40 की औसत से उन्होंने 5554 रन बनाए हैं। इन 66 टेस्ट मुकाबलों में विराट के बल्ले से 21 शतक निकले हैं। टेस्ट में विराट का सर्वाधिक स्कोर हैं 243 रन है।

बीते 3 जुलाई से भारत इंग्लैंड दौरे पर है, एकदिवसीय और टी-20 में विराट ने बनाए है रन

अब तक इंग्लैंड दौरे पर भारत टी-20 श्रृंखला 2-1 से जीत चुका है और एकदिवसीय श्रृंखला 2-1 से हार चुका है। एकदिवसीय श्रृंखला के तीन मुकाबले में विराट ने 75, 45 और 71 रनों की पारी खेली थी। यानि एकदिवसीय के कुल तीन मुकाबलों में 63.67 की औसत से 191 रन बनाये हैं। वहीं टी-20 के तीन मुकाबलों में विराट ने 20 नाबाद, 47 और 43 रनों की पारियां खेली थी।