647 070717022807

एक वक्त में भारतीय क्रिकेट में  जितनी उम्मीदें सचिन तेंदुलकर से होती थीं, अब टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली से होती हैं. विराट  को लोग रन मशीन के नाम से पुकारने लगे हैं.

ऐसे में अगर विराट रन नहीं बना पाते हैं, तो फैंस का निराश होना तो लाजिमी है . ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में विराट के औसत प्रदर्शन के बावजूद टीम इंडिया के पूर्व विस्फोटक ओपनर ने एक भविष्यवाणी कर फैंस में उत्साह पैदा कर दिया है.

वीरु की ‘विराट’ भविष्यवाणी

VIRENDER SEHWAG original3

वीरेन्द्र सहवाग अपने बेबाक अंदाज के लिए हमेशा चर्चा में रहते हैं, लेकिन इस बार सहवाग ने इस बार विराट कोहली के बारे में एक भविष्यवाणी की है, जिसमें उन्होंने कहा कि भारतीय कप्तान कंगारु टीम के खिलाफ टी-20,  न्यूजीलैंड  और श्रीलंका के खिलाफ आगामी सीरीज में विराट का बल्ला जमकर हल्ला बोलेगा.

दरअसल विराट कोहली का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज मे प्रदर्शन बहुत अच्छा नहीं रहा.  विराट ने 5 मैचों में  36.80 के औसत से सिर्फ 184 रन बनाए हैं.  कोलकाता वनडे में विराट ने 92रनों की पारी जरुर खेली थी, लेकिन उसके बाद वो रंग में नजर नहीं आए.

सहवाग ने कहा है, “हमें न्यूजीलैंड और श्रीलंका के खिलाफ  आगामी सीरीज पर फोकस करना चाहिए, विराट इन सीरीज में फिर से इंडिया के लिए बहुत रन बनाते दिखायी देंगे,वो चैम्पियन प्लेयर हैं, हम सब उनकी क्षमताओं को अच्छी तरह जानते हैं, वो बहुत जल्द टीम के लिए शतक लगाएंगे.”  

विराट के आंकड़े बोलते हैं

virat kohli reuters m3

 

कप्तान के तौर भी वीरु ने कोहली को फिट बताया है.सहवाग का मानना है कि टीम की कमान संभालने के बाद से विराट के खेल में और ज्यादा निखार आया है. सहवाग के शब्दों में,  “मेरा मानना है विराट की क्षमता कप्तान बनने के बाद और भी ज्यादा हो गयी है. विराट के आंकड़ें ही सब कुछ बयां करते हैं,कप्तान बनाए जाने के बाद विराट के आंकड़े लाजवाब हैं.”  

विराट ने कप्तान बनने के बाद वनडे में विराट ने 37 मैचों में 73.11 के जबरदस्त औसत से 2047 रन बनाए हैं, जिसमें 8 शतक और 10 अर्धशतक भी शामिल हैं. टेस्ट क्रिकेट में कोहली ने 46 मैचों से 59.53 के औसत से 2560 रन अपने नाम किए हैं जिसमें 10 शतक और 4 अर्धशतक  ठोंके हैं. टी-20 में  विराट ने अभी 3 मैच ही बतौर कप्तान खेले हैं, जिसमें 11 मैचों में 17.33 की औसत से 52 रन बनाए हैं.

विराट मैदान पर हमेशा अपना सौ फीसदी देकर बाकी खिलाड़ियों के लिए एक उदाहरण पेश करते हैं, जो कि किसी भी टीम के लिए बहुत जरुरी होता है.टीम में चयन के लिए होने वाले यो-यो टेस्ट में विराट कोहली सबसे ज्यादा अंक भी पाते हैं.

सचिन का दिया उदाहरण

103135046 GettyImages 110022758

सहवाग का मानना है विराट वनडे सीरीज में कुल्टर नाइल के खिलाफ वो शॉट खेलकर आउट हुए जो उनकी स्ट्रेन्थ बिल्कुल नहीं है यानि विराट ये शॉट पहले नहीं खेलते थे.

इसके लिए इस दिग्गज ने विराट को सचिन का उदाहरण देते हुए एक नसीहत दी. सहवाग ने कहा, “सचिन कहा करते थे कि बल्लेबाज को कभी एक रन लेने के चक्कर में अपना विकेट नहीं गंवाना चाहिए, अगर आप ऐसा कर रहें हैं तो आप अपने विकेट की कीमत नहीं समझ रहें हैं, ये अच्छा है कि हम डॉट बॉल खेलें और जब भी खराब गेंद मिले उसे हिट करें. बल्लेबाज को हमेशा अपने विकेट की कीमत समझनी चाहिए.”

उम्मीद है कि इंडियन कैप्टन सहवाग के दिए गॉड ऑफ क्रिकेट के उदाहरण को अमल में लाएंगे क्योंकि इंडियन फैन्स के लिए इस वक्त विराट भी किसी देवता से कम नहीं है.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *