विराट कोहली

Virat Kohli की कप्तानी वाली टीम इंडिया इस वक्त ब्रिटेन में छुट्टियों का लुफ्त उठा रही है। सोशल मीडिया पर क्रिकेटर्स की घूमने-फिरने वाले पोस्ट धूम मचा रहे हैं। इस छुट्टी के बाद भारत को 4 अगस्त से इंग्लैंड के साथ 5 मैचों की टेस्ट सीरीज खेलनी है, जिसका सभी को बेसब्री से इंतजार है। लेकिन इस बात में कोई संदेह नहीं है कि यदि किंग कोहली को इंग्लैंड सीरीज जीतनी है, तो उन्हें अजिंक्य रहाणे व रोहित शर्मा का साथ जरुर चाहिए होगा।

रोहित-रहाणे के पास है कप्तानों वाला दिमाग

rohit and rahane

यह बात सभी बहुत अच्छे से जानते हैं कि, हमेशा Virat Kohli को उनकी कप्तानी के लिए ट्रोल किया जाता है, जबकि मौका मिलने पर अजिंक्य रहाणे और रोहित शर्मा दोनों खिलाड़ियों ने हमेशा अपनी-अपनी कप्तानी का परचम बुलंद किया है। रोहित ने जहां भारत को अपनी कप्तानी में एशिया कप और निदहास कप जैसे बड़े टूर्नामेंट जिताए हैं, तो वहीं रहाणे की कप्तानी में भारतीय टीम में ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जिताकर सभी को हैरान किया।

ऐसे में अगर इंग्लैंड सीरीज में ये दोनों अनुभवी खिलाड़ी प्लेइंग इलेवन का हिस्सा बनते हैं तो विराट कोहली को इसका बहुत फायदा पहुंच सकता है। इंग्लैंड की सरजमीं पर रहाणे और रोहित का कप्तानी वाला दिमाग विराट के लिए जीत की राहें आसान बना सकता है। सबसे बड़ी बात रहाणे और रोहित की मौजूदगी से कोहली के ऊपर से दबाव भी कम हो सकता है।

रोहित-रहाणे के डर का Virat Kohli को मिल सकता है फायदा

अजिंक्य रहाणे साल 2014 और 2018 के इंग्लैंड दौरे का हिस्सा रह चुके हैं जबकि रोहित शर्मा भी 2014 के  इंग्लैंड दौरे सदस्य थे। इस बात में कोई दोराय नहीं है कि, दोनों खिलाड़ी अनुभव के धनी हैं और इनकी मौजूदगी से विपक्षी टीमों में भी डर बना रहता है और वहीं डर कप्तान Virat Kohli के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।

रोहित और रहाणे अपनी बल्लेबाजी से इंग्लैंड के गेंदबाजों पर दबाव बनाने का काम कर सकते हैं। जो टीम इंडिया और कप्तान कोहली दोनों के लिए काफी पॉजिटिव बनकर सामने आ सकता है।

दोनों का प्रदर्शन भी रहेगा अहम

अजिंक्य रहाणे-फिल्डिंग

रोहित शर्मा ने इंग्लैंड की धरती पर सिर्फ दो टेस्ट मैच खेले हैं और इस दौरान उनके बल्ले से 24.50 की औसत के साथ मात्र 98 रन देखे को मिले हैं। ये आंकड़ें भले ही ये गवाही दे रहे हो कि रोहित का प्रदर्शन इंग्लैंड में फीका है लेकिन सीमित ओवर क्रिकेट में उन्होंने इंग्लैंड में अपने बल्ले से खूब रनों की बारिश की है।

वहीं उपकप्तान अजिंक्य रहाणे ने इंग्लैंड में कुल 11 टेस्ट खेले हैं और इस दौरान 29.52 की औसत के साथ 620 रन बनाए हैं। रहाणे को इंग्लैंड की परिस्थितियां बहुत रास भी आती हैं और 22 पारियों में इनके बल्ले से एक शतक और चार अर्धशतक भी निकल चुके हैं। तो ये दोनों ही Virat Kohli की अगुवाई वाली टीम इंडिया को सीरीज जिताने में अहम योगदान दे सकते हैं।