Virat Kohli-test

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) नॉटिंघम टेस्ट मैच में गोल्डन डक पर जेम्स एंडरसन को अपना विकेट दे बैठे। इसके बाद से ही कोहली की बल्लेबाजी को लेकर क्रिकेट के गलियारों में चर्चा हो रही है। इस बीच पूर्व पाकिस्तानी कप्तान सलमान बट्ट ने कोहली के पहली गेंद पर आउट होने पर उनका समर्थन किया है। उनका कहना है कि इस तरह पहली गेंद पर आउट होना कोई बड़ी बात नहीं है।

पहली गेंद पर आउट होना नहीं कोई बड़ी बात

Virat Kohli

भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) इस वक्त अपने करियर के बुरे दौर से गुजर रहे हैं। पिछले काफी वक्त से उनके बल्ले से बड़ी पारी नहीं निकली है। इसके बाद इंग्लैंड सीरीज के पहले मैच में वह पहली ही गेंद पर आउट हो गए, जिसके चलते भारतीय फैंस काफी मायूस हुए। मगर अब पाकिस्तान के पूर्व कप्तान सलमान बट्ट का कहना है कि पहली गेंद पर आउट होना कोई बड़ी पात नहीं है। बट्ट ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा कि

“पहली गेंद पर आउट होने बड़ी बात नहीं है। यह सिर्फ वक्त की बात है। मुझे नहीं लगता कि वो(कोहली) इसे लेकर बहुत ज्यादा परेशान नहीं होंगे। हां, फैंस जरूर मायूस होते हैं, क्योंकि वो चाहते हैं कि कोहली हर बार रन बनाएं और टीम के लिए मैच जिताने वाली पारी खेलें। वह अभी करियर के बुरे दौर से गुजर रहे हैं। लेकिन मुझे उम्मीद है कि इस मुश्किल वक्त से भी निकल जाएंगे और जल्द ही फैंस को पुराने रंग में नजर आएंगे।”

Virat Kohli भी हैं इंसान

Virat Kohli का इस तरह पहल ही गेंद पर आउट होना यकीनन निराशाजनक था, मगर सलमान बट्ट का कहना है कि विराट भी इंसान ही हैं। उन्होंने कहा,

“विराट भी इंसान हैं और हर खिलाड़ी अपने करियर में किसी न किसी समय खराब फॉर्म से जूझता है। उन्होंने हर देश में रन बनाए हैं. वो 70 अंतरराष्ट्रीय शतक लगा चुके हैं। हालांकि, पिछले 2 साल से वो अपने खेल में शीर्ष पर नहीं हैं। फिर भी दुनिया के 5 सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में शामिल हैं। इससे पता चलता है कि वो किस कद के बल्लेबाज हैं. यह समय कोहली के फॉर्म में वापस आने का है। यह मुश्किल हो सकता है। लेकिन मुझे लगता है कि वो इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में मजबूत वापसी करेंगे।”

बल्ले से शतक के सूखे को चाहेंगे मिटाना

virat kohli

Virat Kohli दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों की गिनती में आते हैं। तीनों ही फॉर्मेट में बल्लेबाज का दबदबा कायम है। लेकिन इन सबके बावजूद कोहली पिछले काफी वक्त से बड़ी पारी नहीं खेल पा रहे हैं। शतक लगाए तो उन्हें लगभग दो साल हो रहे हैं। उनके बल्ले से आखिरी शतक 2019 में बांग्लादेश के साथ खेले गए डे-नाइट टेस्ट में आया था। अब लॉर्ड्स में विराट कोहली अपने बल्ले से शतक लगाकर इस सूखे को खत्म करने के उद्देश्य के साथ मैदान पर उतरना चाहेंगे।