Virat Kohli addressing media IPL

अबु धाबी के शेख जायेद स्टेडियम में मुंबई इंडियंस के साथ खेले गए मैच में विराट कोहली की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने 6 विकेट के नुकसान पर 165 रनों का लक्ष्य खड़ा किया। जवाब में मुंबई की टीम ने 19 ओवर में इस लक्ष्य को हासिल किया और 5 विकेट से आरसीबी को हरा दिया। इस हार के बाद कप्तान विराट कोहली ने टीम के गेंदबाजों की तारीफ की।

अंतिम 5 ओवरों में नहीं कर पाए अच्छी बल्लेबाजी

विराट कोहली

मुंबई इंडियंस ने आरसीबी के खिलाफ खेले गए मैच में टॉस जीतकर विराट कोहली की टीम को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। जहां, आरसीबी ने 165 रनों का लक्ष्य दिया और मुंबई ने 19 ओवर में ही लक्ष्य को हासिल कर लिया और 5 विकेट से विराट कोहली की टीम को हराया। मैच खत्म होने के बाद अपनी पोस्ट मैच सेरेमनी में विराट कोहली ने टीम की हार का कारण बताते हुए कहा,

“हम अंतिम के 5 ओवर में अच्छी बल्लेबाजी नहीं कर पाए, जितने रन हमें बनाने चाहिए थे। शायद उतने रन हम नहीं बना पाए। करीब 20 रन हम कम थे। हमने अंतिम के 5 ओवर में जो शॉट भी खेले, सब फील्डर्स के पास गए।  उन्होंने अंतिम 5 ओवरों में अच्छे क्षेत्रों में गेंदबाजी की और हमें 20 रन कम बनाने दिए।”

17वें ओवर तक मैच में थे हम

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम ने 165 रनों का लक्ष्य दिया था। अबु धाबी के मैदान पर मुंबई के लिए ये लक्ष्य मुश्किल नहीं था, मगर विराट कोहली का मानना है कि वह 17वें ओवर तक मैच में थे। विराट कोहली ने आगे अपनी बात को बढ़ाते हुए कहा,

“हालांकि दूसरी पारी में भी हम 17वें ओवर तक खेल में थे और हमारे गेंदबाजों का यह एक अच्छा प्रयास था। हमने डेल और मॉरिस को शुरुआती स्विंग और पावरप्ले में वाशिंगटन के लिए सोचा था, हमें वहां कुछ विकेट चाहिए थे, लेकिन उनके ओपनर बल्लेबाजों ने अच्छा काम किया।”

प्वॉइंट्स टेबल में ऊपर-नीचे होना है आम

विराट कोहली

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम को इस हार से कुछ खास नुकसान नहीं हुआ है, क्योंकि अभी भी ये टीम प्वॉइंट्स टेबल में 14 प्वॉइंट्स के साथ दूसरे स्थान पर बनी हुई है। आरसीबी के कप्तान विराट कोहली ने इस बात को स्वीकार किया कि प्वॉइंट्स टेबल में टीमों का ऊपर-नीचे होना लगा रहता है। पॉइंट्स टेबल को लेकर विराट कोहली ने कहा,

“पॉइंट्स टेबल में टीमों का ऊपर-नीचें आना चलता रहता हैं। कुछ टीमें जल्दी शिखर पर आती हैं और कुछ बाद में बेहतर करती हैं। जैसा कि हम देख सकते हैं, शुरूआत में निचले पायदान पर रही कुछ टीमें अब कुछ अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं। जब शीर्ष-दो टीमों का संघर्ष होता है, तो यह हमेशा कड़ा मुकाबला होगा और आईपीएल जैसी प्रतियोगिता में, आप किसी भी टीम से कमजोर नहीं मान सकते हैं।”