Virat Kohli Captaincy
Prev1 of 4
Use your ← → (arrow) keys to browse

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup 2021) के बाद भारतीय टीम की टी20 कप्तानी को छोड़ने का ऐलान कर दिया है. बीते गुरुवार को उन्होंने खुद अपने सोशल मीडिया के जरिए इसकी जानकारी दी थी. इसके लिए उन्होंने एक  लंबा-चौड़ा पोस्ट भी किया था.

यानी कि बीते कुछ दिनों से जिस तरह की चर्चा मीडिया में हो रही थी और संभावनाएं जताई जा रही थीं, वो भी कहीं ना कहीं सही साबित हुई हैं. एमएस धोनी (MS Dhoni) के मेंटॉर बनने के बाद मौजूदा कप्तान ने ये ऐलान किया है. इस रिपोर्ट के जरिए हम उनकी कप्तानी छोड़ने की 5 वजहों के बारे में खुलासा करेंगे.

1. भारतीय टीम पर वो पकड़ हुई कमजोर

Virat Kohli

साल 2019 तक हर फॉर्मेट में वो नंबर-1 भारतीय बल्लेबाज की भूमिका नें दिखाई दिए. इतना ही नहीं साल 2015 से 2019 के बीच वो दुनिया के सबसे प्रभावशाली बल्लेबाज की लिस्ट में शुमार हो गए थे. साल 2020 से उनकी फॉर्म में थोड़ी खराब हुई. हालांकि उनके इस खराब प्रदर्शन का असर टीम पर नहीं हुआ. मौजूदा कप्तान की फॉर्म कैसे भी रही हो, लेकिन टीम इंडिया जीत हासिल करती रही. ऐसे में टीम इंडिया की कप्तान पर निर्भरता कम होने लगी.

ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज की जीत इस सफर में मील का पत्थर साबित हुई. ऑस्ट्रेलिया में जिस तरह से भारत ने टेस्ट सीरीज को जीतकर इतिहास रचा उससे बीसीसीआई प्रबंधन और चयनकर्ताओं को ये विश्वास हो गया था कि, भारतीय टीम मौजूदा कप्तान की गैरमौजूदगी में भी बेहतरीन प्रदर्शन कर सकती है.

Prev1 of 4
Use your ← → (arrow) keys to browse