Virat kohli-ipl

14 अप्रैल को आईपीएल 2021 (IPL 2021) का छठा मैच रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और सनराइजर्स हैदराबाद (RCB vs SRH) के बीच चेन्नई में खेला गया था. जिसे जीतकर आरसीबी (RCB) इस सीजन की पहली टीम बन गई, जिसने लगातार अपने दूसरे मुकाबले पर जीत हासिल की है. लेकिन, इस जीत के बाद कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) फटकार लगी है.

जीत के बाद भी विराट को लगी फटकार

Virat kohli

दूसरी जीत के साथ विराट की टीम अब अंक तालिका में पहले स्‍थान पर पहुंच गई है. यूं तो अक्सर जीतने वाली टीम की हर कोई तारीफ करता है. लेकिन आरसीबी के मामले में सीन कुछ उलटा ही दिखा. हैदराबाद के खिलाफ 6 रन से नजदीकी जीत दर्ज करने के बाद भी कोहली को फटकार का सामना करना पड़ा है.

दरअसल विराट कोहली (Virat Kohli) का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. जिसमें उन्होंने कुछ हरकतें की है, जिसके चलते उन्हें इंडियन प्रीमियर लीग की आचार संहिता (IPL Code Of Cunduct) के उल्‍लंघन का दोषी पाया गया है. जिसके चलते उन्हें फटकार लगी है.

आचार संहिता का उल्‍लंघन करने के दोषी पाए गए कोहली

photo 2021 04 15 09 37 48

वायरल हो रहे वीडियो में आप भी देख सकते हैं कि, कोहली जब सनराइजर्स हैदराबाद (sunrisers hyderabad)  के खिलाफ बल्लेबाजी करते हुए 29 गेंद पर 33 रन बनाकर आउट हो गए थे. तब वो मैदान से वापस पवेलियन की ओर जा रहे थे . लेकिन खुद के इस तरह से आउट होने के बाद वो कदर गुस्से में थे कि उन्होंने डगआउट में रखी कुर्सी पर अपना बल्‍ला दे मारा था.

कोहली के इस हरकत का वाक्या कैमरे में रिकॉर्ड हो गया और सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने लगा. विराट कोहली (Virat Kohli) की इस हरकत के नजारे को देखते हुए मैच रेफरी वी. नारायण कुट्टी ने आईपीएल आचार संहिता का उल्‍लंघन करने के मामले में कोहली नाराजगी जताते हुए उन्हें इसक मामले में जमकर फटकार लगाई है.

विज्ञापन बोर्ड पर भी कोहली ने बैट से किया था प्रहार

photo 2021 04 15 09 38 47

आरसीबी (RCB) के कप्तान ने अपने बल्ले को कुर्सी पर तो दे मारा ही था इसके अलावा उन्होंने बाउंड्री लाइन पर लगे विज्ञापन बोर्ड पर भी बैट से प्रहार किया था. ऐसे में विराट कोहली (Virat Kohli) को लेवल एक के क्‍लॉज 2.2 के उल्‍लंघन का दोषी पाया गया है. इस प्रावधान के तहत क्रिकेट उपकरण, मैदान के सामान को नुकसान पहुंचाने या फिर उनका अपमान करने से जुड़े सभी मामले आते हैं. इससे पहले ऐसा साल 2016 में गौतम गंभीर भी कर चुके हैं. उस दौरान उनकी 15 प्रतिशत मैच फीस भी काट ली गई थी.