Virat Kohli

भारत और इंग्लैंड के बीच खेली गई चार मैचों की टेस्ट सीरीज में विराट कोहली (Virat Kohli) की कप्तानी वाली टीम ने 3-1 से जीतकर अपने नाम कर ली है। इस सीरीज को भारत ने 25 रन व एक इनिंग से जीता है। इस सीरीज को जीतकर अब भारत टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंच गई है। सीरीज को जीतने के बाद कप्तान विराट कोहली ने रविचंद्रन अश्विन सहित कुछ खिलाड़ियों की खूब तारीफ की।

Virat Kohli बोले, हमारी बेंच स्ट्रेंथ है मजबूत

Virat Kohli

भारत ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि टीम की बेंच स्ट्रेंथ काफी मजबूत है। दरअसल, इस सीरीज में रविंद्र जडेजा, मोहम्मद शमी आखिरी मैच में जसप्रीत बुमराह जैसे बड़े खिलाड़ी उपलब्ध नहीं थे। इसके बावजूद भारतीय टीम के खेल को देखकर एक पल भी किसी खिलाड़ी की कमी नहीं खली और भारत ने सीरीज को जीत लिया। सीरीज जीतने के बाद कप्तान विराट कोहली ने पोस्ट मैच कॉन्फेंस में कहा,

“चेन्नई में जो हमने वापसी की, उससे मुझे सबसे ज्यादा खुशी हुई। पहले मैच में इंग्लैंड ने हमें पीछे छोड़ दिया था। टॉस ने अहम भूमिका निभाई और गेंदबाजों ने मुकाबले में अच्छा नहीं किया था। हमने गेंदबाजी की और अधिक तीव्रता के साथ मैदान में उतरे और इसलिए वापसी बहुत ही खुशी की बात रही। हमारी बेंच स्ट्रेंथ बेहद मजबूत है और यह भारतीय क्रिकेट के लिए अच्छा संकेत है। जब ट्रांजिशन पीरियड आए, तो हमारे खेल का स्तर नहीं गिरेगा और ऋषभ और वाशिंगटन की साझेदारी ने मैच को एक महत्वपूर्ण मोड़ दिया।”

घर पर भी जीत के लिए करनी होगी कड़ी मेहनत

भारतीय क्रिकेट टीम 2012 के बाद से अब तक घरेलू सरजमीं पर कोई भी टेस्ट सीरीज नहीं हारी है। विजयरथ पर सवाल टीम इंडिया के कप्तान का मानना है कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में किसी टीम को घर पर हराने के लिए कड़ी मेहनत करनी होती है। उन्होंने आगे कहा,

“हमें चेन्नई में पहले मैच के बाद अपनी बॉडी लैंग्वेज चुननी थी। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में हर टीम एक क्वालिटी टीम है और हमें उन्हें हराने के लिए कड़ी मेहनत करने की जरूरत है, यहां तक ​​कि घर पर भी। उस तीव्रता को जारी रखना सबसे महत्वपूर्ण है और हमारी टीम की पहचान है।”

रोहित शर्मा की पारी थी निर्णायक

Virat Kohli

सीरीज के पहले मैच में मिली 227 रनों से बड़ी हार के बाद भारत ने चेन्नई में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में वापसी की थी। इस मैच में रोहित शर्मा ने 231 गेंदों पर 161 रन की पारी खेली थी। इस पारी ने भारतीय टीम को सीरीज में वापसी करने में बहुत मदद की, क्योंकि रोहित का ये शतक बहुत ही मुश्किल पिच पर आया था। वहीं रविचंद्रन अश्विन ने तो सीरीज में कमाल की गेंदबाजी और बल्लेबाजी की। इसके लिए उन्हें प्लेयर ऑफ द सीरीज के खिताब से नवाजा गया। रोहित की पारी के बारे में विराट कोहली ने आगे कहा,

‘रोहित की पारी, चेन्नई में निर्णायक थी और अश्विन पिछले कुछ वर्षों में हमारे सबसे बैंकर खिलाड़ी रहे हैं, इसलिए वे इस सीरीज के हमारे सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी रहे हैं। अब हम स्वीकार कर सकते हैं कि आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में पहुंच गए हैं, जो 2020 में न्यूजीलैंड में एक डिस्ट्रैक्शन थी।”