विराट कोहली

भारत-इंग्लैंड के बीच 5 फरवरी से 4 मैचों की टेस्ट सीरीज का आगज हो रहा है, जिसे लेकर विराट कोहली-जो रूट की टीमें तैयार हैं. कोरोना महामारी के बीच यह किसी भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट टीम के लिए भारत का पहला दौरा है. जिसके लिए इंग्लैंड की टीम चेन्नई के होटल में पहुंच गई है. दोनों टीमें अभी बायो बबल में समय बिता रही हैं.

विराट कोहली और जो रूट के लिए जरूरी टेस्ट सीरीज

विराट कोहली

कोविड-19 के बीच यह पहली बार होगा, जब 5 फरवरी से जो रूट (Joe Root) की कप्तानी वाली इंग्लैंड की  टीम, विराट कोहली की मेजबानी वाली टीम से भिड़ेगी. दोनों टीमों के बीच होने वाली इस टेस्ट सीरीज पर दुनियाभर के क्रिकेट जगत की निगाहें टिकी होंगी.

खासकर दोनों कप्तानों के लिए यह सीरीज उनके अपने रिकॉर्ड के लिए ज्यादा जरूरी होंगी, जिस पर वो फोकस करना चाहेंगे. दोनों टीमों के बीच पहला मुकाबला चेन्नई के एम ए चिदंबरम स्टेडियम के चेपॉक ग्राउंड पर खेला जाएगा.

ऑस्ट्रेलिया को रौंदकर विराट कोहली की टीम का बढ़ा है मनोबल

विराट कोहली-जो रूट

दिलचस्प बात तो यह है कि, साल 2012 में ही पहली बार जो रूट ने भारतीय टीम के खिलाफ अपने करियर का पहला टेस्ट डेब्यू मैच खेला था. लेकिन उस समय उन्हें टीम की कप्तानी की कमान नहीं सौंपी गई थी. ऐसे में यह कह सकते हैं कि इस सीरीज को जीतने के लिए अंग्रेजी खिलाड़ियों के साथ कप्तान पर भी खास प्रेशर होगा.

इसके पीछे की बड़ी वजह यह है कि, विराट कोहली की टीम हाल ही में ऑस्ट्रेलिया को उसी की सरजमीं रौंदकर लौटी है, और इसकी वजह से पूरी टीम का मनोबल काफी ज्यादा बढ़ चुका है. कोहली की कप्तानी में अब तक टीम का रिकॉर्ड बेहद शानदार रहा है.

विराट कोहली टेस्ट रैंकिंग में जो रूट से हैं आगे

विराट कोहली

इस वजह से 4 टेस्ट मैचों की इस सीरीज में विराट कोहली और जो रूट की बल्लेबाजी पर भी लोगों की नजरें गड़ी होंगी. क्योंकि हाल ही में श्रीलंका के खिलाफ रूट का बल्ला जमकर रन उगला है, दोहरा शतक जड़ने के साथ उन्होंने शतकीय पारी भी खेली है.

आईसीसी बल्लेबाज टेस्ट रैंकिंग में कोहली 862 अंकों के साथ चौथे नंबर पर हैं. जबकि इंग्लैंड के कप्तान जो रूट 823 अंक के साथ पांचवें नंबर पर हैं. इस वजह से सीरीज में विराट और रूट की निगाहें कप्तानी के खास रिकॉर्ड पर भी टिकी होंगी.

विराट कोहली और जो रूट अपने रिकॉर्ड पर करेंगे फोकस

विराट कोहली-IndvsEng

विराट कोहली ने टेस्ट मैच में इंग्लैंड के खिलाफ अब तक  10 मैच में कप्तानी की है और उनमें से 5 मुकाबले जीते हैं. जबकि जो रूट ने भारत के खिलाफ 5 टेस्ट में मेजबानी करते हुए 4 मैच जीते हैं.  यदि भारतीय टीम  ये सीरीज जीत जाती है तो, कोहली एलिस्टर कुक को पीछे छोड़ अब तक के सबसे सफल कप्तान की लिस्ट में शीर्ष पर होंगे.

एलिस्टर कुक की मेजबानी में इंग्लैंड टीम साल 2012 में भारत के खिलाफ सीरीज पर जीत दर्ज की थी. कोहली ने साल 2016 और 17 में 5 मैचों की सीरीज में इंग्लैंड के खिलाफ कप्तानी करते हुए सीरीज को 4-0 से जीत लिया था. लेकिन 2018 वाले 5 टेस्ट मैचों में से भारत को 1 ही मुकाबले में जीत मिली थी.