Brad-Hogg-and-Virat-Kohli

भारतीय कप्तान Virat Kohli ने हाल ही में घोषणा की कि वह आगामी टी20 विश्वकप के बाद भारत के टी20 कप्तान का पद छोड़ देंगे। क्रिकेट प्रशंसकों यह खबर बिल्कुल भी अच्छी नहीं लगी है। यह बात अभी तक आधे से ज्यादा प्रशंसकों को हजम नहीं हुई थी कि कोहली ने रविवार को एक बार फिर घोषणा की कि वह इस सीजन (IPL 2021) में आखिरी बार आरसीबी की कप्तानी करेंगे। इससे उनके प्रशंसकों का दिल टूट गया है। ऐसे में ऑस्ट्रेलिया के पूर्व स्पिनर ब्रैड हॉग ने अपनी अलग ही राय दी है।

सचिन के शतकों का रिकॉर्ड तोड़ना चाहते हैं Virat Kohli :  ब्रैड हॉग

brad hogg virat kohli

Virat Kohli के पहले भारतीय टीम और फिर आईपीएल से कप्तानी छोड़ने के फैसलों के बाद, विशेषज्ञ और प्रशंसक सभी अपनी-अपनी राय दे रहे हैं और अब पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर ब्रैड हॉग भी इस लिस्ट में शामिल हो चुके हैं। उनके मुताबिक विराट क्रिकेट के लंबे प्रारूपों पर ज्यादा ध्यान देना चाहते हैं और यही वजह है कि उन्होंने भारत की टी20 और आरसीबी की कप्तानी छोड़ने का फैसला किया है। हॉग ने यह भी माना कि कोहली महान सचिन तेंदुलकर के 100 अंतरराष्ट्रीय शतकों के रिकॉर्ड को तोड़ना चाहते हैं।

हॉग ने अपने यूट्यूब चैनल में कहा,

“Virat Kohli ने टी20 कप्तान और आरसीबी के कप्तान पद से इस्तीफा दे दिया है। यह एक बड़ी खबर है, जहां वह खेल के अन्य प्रारूपों पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। वह टेस्ट क्रिकेट और वनडे में भारत का नेतृत्व करना चाहते हैं। लेकिन, उनकी नजर में एक रिकॉर्ड जरूर होगा, सचिन तेंदुलकर के 100 अंतरराष्ट्रीय शतकों के रिकॉर्ड को हासिल करना।”

टेस्ट क्रिकेट पर फोकस करना चाहते हैं कोहली : ब्रैड

brade hogg virat kohli

पिछले एक दशक से भारतीय क्रिकेट का एक महत्वपूर्ण खिलाड़ियों में से एक Virat Kohli ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सभी प्रारूपों में कुल मिलाकर 70 शतक लगाए हैं। वह एकदिवसीय प्रारूप में तेंदुलकर के शतकों की बराबरी करने के सबसे करीब हैं, वहीं टेस्ट क्रिकेट में अभी भी उन्हें लंबा सफर तय करना है। हॉग ने इस वीडियो में कोहली की बल्लेबाजी के बारे में ही बात की है।

इसके आगे हॉग ने और कहा,

“वह एकदिवसीय मैचों में कोहली, सचिन के शतकों के लगभग बराबर पहुंच चुके हैं। वर्तमान समय में उनके नाम कुल 43 शतक दर्ज हो चुके हैं। लेकिन, वहीं टेस्ट मैचों में उनके बल्ले से सिर्फ 27 ही शतक निकल चुके हैं। तेंदुलकर ने 200 मैचों में 51 शतक बनाए हैं। ऐसे में मुझे लगता है कि Virat Kohli टेस्ट क्रिकेट पर ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं और तेंदुलकर के 50 टेस्ट शतकों के रिकॉर्ड की बराबरी करना चाहते हैं। वह भी महानों में से एक बनना चाहता है।”