Virat Kohli-Test

भारत और इंग्लैंड के बीच चल रही पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के तीन मैच खेले जा चुके हैं। जिनमें भारतीय बल्लेबाजों का प्रदर्शन अभी तक ज्यादा प्रभावी नहीं रहा है। यहां तक कि अभी तक सीरीज में भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) भी उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर सके हैं। 2018 में इंग्लैंड की जमीन पर तहलका मचाने वाले विराट कोहली का बल्ला इस वक्त तक शांत ही बना हुआ है

 यहां तक कि अभी तक इस सीरीज में उनके बल्ले से सात पारियों में सिर्फ दो ही बार पचास निकला है। लेकिन, कहते हैं ना कि हीरा तो हीरा ही होता है। ऐसे में आपको बता दें कि कप्तान विराट कोहली चौथे टेस्ट की पहली पारी में 50 रन बनाकर आउट हुए और पहला रन बनाते ही एक और रिकॉर्ड बहुत ही तेजी से पार कर लिया है।

 Virat Kohli ने सबसे तेजी से बनाए 23 हजार रन

Virat Kohli-Ian Bell

विश्वक्रिकेट के इतिहास में कुल 12 ही बल्लेबाज ऐसे हैं, जिन्होंने 20 हजार से ज्यादा रन बनाए हैं और उनमें से सिर्फ सात ही बल्लेबाजों ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 23 हजार रन बनाने का कारनामा किया है। वैसे तो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के नाम है। वहीं Virat Kohli ने अभी तक अंतरराष्ट्रीय करियर में कुल 440 मैच खेले हैं।

 जिनकी 490 पारियों में उनके नाम 23,049 रन दर्ज हो चुके हैं। इस दौरान वो 73 बार नाबाद रहते हुए कुल 70 शतक व 116 अर्धशतक लगा चुके हैं। साथ ही इन रनों के साथ कोहली का औसत 55.28 का रहा। अन्य सभी खिलाड़ियों के मुकाबले कोहली ने इस मुकाम पर पहुंचने के लिए सबसे कम पारियां खेली हैं।

सचिन और पोंटिंग का नंबर है Virat Kohli के बाद

sachin ricky

विश्व क्रिकेट में सचिन तेंदुलकर का नाम हमेशा से ही सम्मान से लिया जाता है। उन्हें क्रिकेट का भगवान और मस्टर ब्लास्टर की उपाधि से भी नवाजा जाता है। 90 के दशक में अकेले ही टीम इंडिया की उम्मीदों को अपने कंधे पर धोने वाले सचिन ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 782 पारियों में 34357 रन बनाए हैं। लेकिन, आपको बता दें कि उन्होंने 23 हजार के आंकड़े तक पहुंचने के लिए 522 पारियां ली थीं। 

इनके साथ ही एक और खिलाड़ी हैं जो थोड़ा और देर से 23 हजार के मुकाम पर पहुंचे थे। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग ने वैसे तो अपने करियर में 668 पारियों में कुल 27,483 रन बनाए हैं। लेकिन, इतने रनों के लिए उन्हें भी 544 पारियों का इंतजार करना पड़ा था। इन सभी के अगर रिकॉर्ड की बात करें तो Virat Kohli सभी से मीलों आगे चल रहे हैं और अगर इसी रफ्तार से चलते रहे तो जल्द ही सभी रिकॉर्ड वो तोड़ देंगे।