Rahane Kohli Test AP 571 855

ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर विराट कोहली की गैरमौजूदगी में अंजिक्य रहाणे की कप्तानी में टेस्ट जीतकर लौटी टीम इंडिया की तारीफ चारों तरफ हो रही है. इसके साथ ही कहीं न कहीं टीम के मैजूदा कप्तान पर कई अलग-अलग तरह के सवाल भी उठाए जाने लगे हैं. ऐसे में रहाणे हर तरफ अपनी शानदारी मेजबानी से क्रिकेट जगत का दिल जीत चुके हैं.

विराट कोहली की कप्तानी पर अब शेन ली ने उठाए सवाल

विराट कोहली

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2-1 से टेस्ट सीरीज जीतने के बाद स्वदेश लौटी टीम इंडिया के दिग्गज और फैंस के बीच विराट कोहली की कप्तानी को लेकर लगातार चर्चा जारी है. इसी बीच अब ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर और ब्रेट ली के भाई शेन ली ने उनकी कप्तानी को लेकर बड़ा बयान दे दिया है.

अक्सर इस तरह के बातें कई बार सामने आती रही हैं कि, विराट कोहली टीम को अग्रेसिव तरीके से हैंडल करते हैं, जबकि अंजिक्य रहाणे काफी शांत स्वभाव के क्रिकेटर हैं, जो अपने उसी अंदाज में खिलाड़ियों से बातचीत करते हैं, और उन्हें मैच में प्रेरित करते हैं. यही वजह है कि प्लेयर्स उनकी कप्तानी में खुद को और निखारकर सामने आते हैं.

विराट कोहली की कप्तानी में डरे सहमे रहते हैं भारतीय खिलाड़ी

विराट कोहली-अजिंक्य रहाणे

हालांकि इसी बीच शेन ली (shane lee) ने विराट की कप्तानी को लेकर जो बयान दिया है, उसे सुनने के बाद तो शायद खुद मेजबान के ही होश उड़ जाएं, लेकिन उन्होंने ऐसा क्यों कहा, और वो इस तरह से क्यों सोचते हैं इसका जवाब तो वही दे सकते हैं.

शेन ली का कहना है कि, कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम के खिलाड़ी डरे-सहमे रहते हैं, जबकि रहाणे की कप्तानी में वो खुद को दबावमुक्त समझते हैं, और ऑस्ट्रेलिया दौरे पर यह अनुभव भी किया गया. इस बारे में एक इंटरव्यू में शेन ली बात की है.

विराट कोहली की जगह अजिंक्य रहाणे को बानाता कप्तान: शेन ली

विराट कोहली-शेन ली

‘देखिए विराट दुनिया के सबसे शानदार बल्लेबाजों में से एक हैं लेकिन उनकी कप्तानी में टीम इंडिया के खिलाड़ी सहमे से दिखाई देते हैं. ऐसा लगता है कि जैसे वो डरे हुए हैं. विराट कोहली बहुत ही ज्यादा प्रोफेशनल रवैया खिलाड़ियों से चाहते हैं. सभी खिलाड़ियों को फिट रहना काफी जरूरी होता है, फील्डिंग में बेहतरीन प्रदर्शन करना होता है, खिलाड़ी थोड़े डरे हुए लगते हैं. मैंने रहाणे की कप्तानी में खिलाड़ियों को दबावमुक्त महसूस किया है.’

शेन ली ने आगे बातचीत करते हुए कहा कि,

‘यदि वो भारतीय टीम में सेलेक्टर्स के तौर पर होते तो अजिंक्य रहाणे को कप्तान घोषित  देते और विराट कोहली को अपनी बल्लेबाजी पर फोकस करने के लिए कहते. मैं सेलेक्टर होता तो रहाणे कप्तान होते और कोहली का काम सिर्फ बल्लेबाजी का होता. क्योंकि उनकी कप्तानी में भारतीय टीम अच्छा खेलती है.’