Delhi's Rishabh Pant hero of day take selfi alond with his fans after 4thDay play against Maharashtra during Ranji held at Wankhade stadium,churchgate on Sunday. Express photo by Kevin DSouza, Mumbai 16-10-2016

साल 2017-18 के रणजी टूर्नामेंट का फाइनल मुकाबला विदर्भ और दिल्ली टीम के बीच खेला गया,जिसमें विदर्भ टीम ने जबरदस्त खेल का प्रदर्शन दिखाते हुए दिल्ली टीम पर विजय प्राप्त कर लिया।

दिल्ली टीम को हुई शर्मनाक हार

दिल्ली टीम के शर्मनाक हार के बाद कप्तान ऋषभ पंत की जमकर आलोचना की जा रही है।इसमें क्रिकेट प्रशसकों के अलावा क्रिकेट से जुड़ी कई हस्तियों ने पंत के बल्लेबाजी से लेकर कप्तानी की आलोचना करते हुए उनको जमकर निशाने पर लिया,साथ ही राष्ट्रीय टीम में जगह बनाने का अयोग्य ठहरा दिया।

कप्तान पंत की हो रही जमकर आलोचना

खेले जा चुके रणजी टूर्नामेंट के फाइनल मुकाबले में दिल्ली टीम को विदर्भ टीम से 9 विकेट से हार का सामना करने पड़ा,जिसमें हार की जिम्मेदारी सबसे अधिक युवा कप्तान ऋषभ पंत को ठहराया जा रहा है.

गौरतलब है कि पंत ने जहां पहले पारी में बल्लेबाजी करते हुए 36 गेंदों का सामना कर 58.33 के औसत से महज 21 रन बनाए,वहीं दूसरी पारी में दिल्ली टीम की तरफ से बल्लेबाजी करते हुए 36 गेंदो पर 88.39 के औसत से कुल 32 रन ही बना सके।

नीली जर्सी के अयोग्य बताया पंत को!

 

आजतक के स्पोर्ट्स एडिटर विक्रान्त गुप्ता ने पंत को निशाने पर लेते हुए अपने आफिशियल ट्वीटर हैंडल से ट्वीट करते हुए कहा कि,

“ऋषभ पंत के क्रिकेट करियर का ग्राफ नीचे जाते हुए देखकर काफी चौंक गया हूं।उनके पास अब और अर्न्तराष्ट्रीय क्रिकेट मैच खेलने का प्रतिभा नहीं बची है। दुर्भाग्यवश..!!”

लोगों ने दिखाया गुस्सा 

पहली बार फाइनल में पहुंचकर कब्जा कर लिया ट्राॅफी पर

आपको बता दे, खेले गए इस फाइनल मुकाबले में टाॅस हारकर दिल्ली टीम ने पहले बल्लेबाजी की और पूरी टीम मात्र 295 रनों पर ही सिमट गयी,जिसके बाद बल्लेबाजी करने आयी विदर्भ टीम ने जबरदस्त बल्लेबाजी करते हुए 547 रनों का बड़ा स्कोर खड़ा कर दिया,जिसके लिए उन्होंने 163.4 का खेल खेला।

इसके बाद दूसरी पारी में बल्लेबाजी करने आयी दिल्ली टीम के बल्लेबाजों ने एक बार फिर निराश करते हुए 280 रन ही बना सकी,जिसे विदर्भ टीम ने महज 5 ओवर खेलकर पूरा कर लिया और इस प्रकार 9 विकेट से जीत दर्ज कर ली।