क्रिकेट अमूमन अधिकतर लोगों का लोकप्रिय खेल होता है क्योंकि इसमें आए दिन कुछ न कुछ नया और अनोखा देखने को मिलता रहता है। इस खेल को अनिश्चितताओं का खेल भी कहा जाता है। इन दिनों ऑस्ट्रेलिया में घरेलू टूर्नामेंट द मार्श कप खेला जा रहा है। सोमवार को पर्थ में खेले जा रहे तीसरे मैच में विक्टोरिया और तस्मानिया के मैच का अंत कुछ के परिणाम ने सभी को हैरान कर देता है।

जीता हुआ मैच 1 रन से हार गई तस्मानिया

क्रिकेट के खेल में कब बाजी पलटने में वक्त नहीं लगता। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि ऑस्ट्रेलिया के घरेलू टूर्नामेंट में विक्टोरिया और तस्मानिया के बीच खेले गए मैच का अंत कुछ ऐसा ही रहा। तस्मानिया जीतते-जीतते हार गई और विक्टोरिया हारते-हारते जीत गई।

टूर्नामेंट के तीसरे मैच में विक्टोरिया ने पहले बल्लेबाजी की और 47.5 ओवर में महज 185 रन बनाकर पूरी टीम पवेलियन में बैठी नजर आई। जिसमें सबसे अधिक रनों की पारी खेलते हुए विल सदरलैंड ने 53 रन बनाए। ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल ने 34 रनों के अहम योगदान से टीम को ठीक-ठाक हालत में पहुंचाया।

जवाब में बल्लेबाजी करने उतरी तस्मानिया ने बेन मैक्डरमट के शानदार अर्धशतक के दम पर अपना स्कोर 4 विकेट पर 172 रनों तक पहुंचा दिया। इस मोड़ पर हर किसी को यही लग रहा था की तस्मानिया जीतने वाली है कि तभी मैच का रुख पलटा और तस्मानिया ने अगली 16 गेंदों पर अपने बचे हुए 6 विकेट खो दिए और वो एक रन से मैच हार गई।

गेंदबाजों के दम पर मिली विक्टोरिया को जीत

विक्टोरिया को मिली इस जीत के लिए उनके गेंदबाजों की बेहतरीन गेंदबाजी को जाता है। जिस तरह उन्होंने धड़ाधड़ विकेट्स चटकाए वह देख हर कोई हैरान रह गया। जिसमें जैक्सन कोलमैन ने 40वें ओवर में अपनी विकेटचटकाऊ गेंदबाजी के दम पर एक ओवर में 3 विकेट्स चटका डाले।

इसमें सबसे पहले जेम्स फॉकनर, दूसरी गेंद पर क्रीज पर सेट होकर 78 रन बना चुके मैक्डरमट को आउट कर दिया. आखिरी गेंद पर कोलमैन ने संधू को भी चलता किया। इसके बाद भी टीम को जीत के आसार साफ नजर आ रहे थे लेकिन आखिरी ओवर में ट्रीमैन ने दो विकेट चटकाते हुए विक्टोरिया को एक रन से रोमांचक जीत दिला दी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *