Vasu Paranjape

सचिन तेंदुलकर, सुनील गावस्कर, दिलीप वेंगसरकर, राहुल द्रविड़, रोहित शर्मा जैसे कई दिग्गज खिलाड़ियों को तराशकर स्टार बनाने वाले कोच वासु परांजपे (Vasoo Paranjape) का 82 साल की आयु में निधन हो गया है। वासु एक बहुत ही अच्छे कोच थे, उनकी कोचिंग का असर आप इन नामों से ही लगा सकते हैं कि उनसे गुर सीखने वाले खिलाड़ियों ने भारतीय क्रिकेट में कितना बड़ा योगदान दिया। मगर उनके निधन से क्रिकेट गलियारों में शोक की लहर है।

Vasoo Paranjape का हुआ निधन

Vasu Paranjape

मुंबई और बडौदा के लिए फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेलने वाले और तमाम दिग्गज खिलाड़ियों को तराशकर मैच विनर के रूप में तैयार करने वाले कोच Vasoo Paranjape अब हमारे बीच नहीं रहे। 30 अगस्त को 82 साल की आयु में मुंबई में उनका निधन हो गया है। कोच वासु ने ही सुनील गावस्कर को उनका निकनेम सनी दिया था, जिस नाम से आज वह पूरी दुनिया में पहचाने जाते हैं।

वासू इतने सख्त थे कि उन्हें मुंबई क्रिकेट में लोग ‘खड़ूस’ कोच कहते थे। लेकिन ये वासु ही थे, जिनकी क्रिकेट वाली पारखी नजरों ने दुनिया को सचिन, गावस्कर और द्रविड़ जैसे दिग्गज बल्लेबाजों से मिलाया। Vasoo Paranjape ने मुंबई और बड़ौदा के लिए कुल 29 फर्स्ट क्लास मैच खेले। इसमें उन्होंने 785 रन बनाने के साथ ही 9 विकेट लिए थे। उन्होंने अपने करियर में 127 रन के सर्वश्रेष्ठ स्कोर के साथ दो शतक और दो अर्धशतक लगाए।

रवि शास्त्री – बिनोद कांबली ने जताया शोक

Vasoo Paranjape के निधन पर भारतीय क्रिकेट सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए उन्हें आखिरी श्रृद्धांजली अर्पित कर रहे हैं। भारतीय टीम के कोच रवि शास्त्री ने ट्वीट किया- ‘वासु परांजपे के निधन पर वास्तव में दुखी हूं। वो एक इंसान नहीं, बल्कि क्रिकेट के लिए एक संस्था थे। उन्होंने इस खेल में जो योगदान दिया। उसे भुलाया नहीं जा सकता है। खेल पर उनका असर सकारात्मक रहा। इस दुख की घड़ी में मैं उनके परिवार के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करता हूं। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे।’

पूर्व भारतीय क्रिकेटर कांबली ने ट्वीट करते हुए लिखा- ‘वासु परांजपे जी के बारे में सुनकर बहुत दुख हुआ। मेरी गहरी संवेदनाएं हैं और ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें।’