Suresh Raina

Suresh Raina: आज इस आर्टिकल में हम अपको उस प्लेयर के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसने इंडियन प्रीमियर लीग के 15वें सीजन में गेंदबाजों की नायक में दम कर रखा है। यह खिलाड़ी आईपीएल की पांच बार विजेता रह चुकी टीम मुंबई इंडियंस का प्लेयर है। दरअसल इस खिलाड़ी की जिंदगी को बदलने वाले और कोई नहीं बल्कि मिस्टर आईपीएल की नाम से मशूर सुरेश रैना (Suresh Raina) है। तो आइए चलिए जानते हैं कि कौन है ये खिलाड़ी जिसकी जिंदगी रैना ने महज पांच मिनट में बदल दी।

Suresh Raina के संग मुलाकात के बाद इस प्लेयर की बदली जिंदगी

Tilak Varma

सुरेश रैना को यह जरूर याद होगा कि साल 2014 में उप्पल के एचसीए स्टेडियम में हैदराबाद क्रिकेट कोच सलाम बयाश या किसी 12 वर्षीय से मुलाकात हुई थी। चेन्नई सुपर किंग्स को अगले दिन सनराइजर्स हैदराबाद का सामना करना था और रैना ने 12 वर्षीय तिलक वर्मा से पांच मिनट तक बात की और उनके साथ तस्वीरें खिंचवाईं।

सुरेश रैना के संग हुई इस मुलाकात ने वर्मा को बहुत प्रभावित किया। अब आठ साल बाद जब सुरेश रैना 20 साल के बाएं हाथ के बल्लेबाज तिलक वर्मा की बल्लेबाजी देखटए होंगे तो उनके चेहरे पर मुस्कुराहट आ जाती होगी। तिलक वर्मा ने रविचंद्रन अश्विन पर रिवर्स स्वीप से छक्का भी जड़ा।

Suresh Raina से हुई मुलाकात को किया याद

suresh raina

सुरेश रैना के संग हुई मुलाकात को याद करने हुए तिल वर्मा के कोच सलाम बायश ने खुलासा किया कि तिलक वर्मा सुरेश रैना को देखने के बाद उनकी बैटिंग से अपनी नजर नहीं हटा पाए। और इसके बाद से ही उन्होंने क्रिकेटर बनने का निर्णय किया। मुंबई इंडियन्स की टीम में शामिल अपने शिष्य के बारे में कोच सलाम बायश ने कहा,

” मेरा एक दोस्त स्थानीय मैनेजर था। मैंने अभ्यास देखने की स्वीकृति के लिए उसकी मदद की और तिलक को अपने साथ ले गया। मुझे याद है कि तिलक सुरैना रैना को बल्लेबाजी करते हुए देखकर काफी प्रभावित था। उसने एक बार भी उसके ऊपर से आंख नहीं हटाई और रैना के प्रत्येक शॉट को देखा। इसके बाद हमने उनके साथ तस्वीर खिंचवाई और मुझे लगता है कि रैना के साथ वह ‘विशेष मुलाकात’ तिलक के लिए यह फैसला करने के लिए पर्याप्त थी कि वह क्रिकेटर बनेगा। “

राजस्थान के खिलाफ खेली थी विस्फोटक अर्धशतकीय पारी

Tilak Varma

हाल ही में हुए राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ मुकाबले में तिलक वर्मा ने विस्फोटक अर्धशतकीय पारी खेल 61 रन अपने टीम के स्कोर में जोड़े। उनके इस परफ़ोर्मेंस ने सबका ध्यान उनकी तरफ खींचा। हालांकि वर्मा कि विस्फोटक पारी भी मुंबई इंडियंस की नय्या डूबने से बचा नही पाई। मुख्य कोच महेला जयवर्धने ने भी वर्मा की सराहना की।

तिलक वर्मा के पिता बिजली का काम करते हैं और उनका मानना है कि एक करोड़ 70 लाख रुपये की रकम मिलने से उन्हें अपने माता-पिता को बेहतर जीवन देने में मदद मिलेगी। तिलक वर्मा का कहना है कि उनके माता-पिता ने उनके सपने के साकार होने के लिए काफी बलिदान दिए हैं।