आईसीसी रैंकिंग्स
image credit: twitter

एशिया में हमेशा से ही शानदार स्पिनर रहे है फिर चाहे उसमे हम श्रीलंका के महान स्पिनर मुथिया मुरलीधरन का नाम ले या फिर भारत के अनिल कुंबले, हरभजन सिंह या रविचंद्रन अश्विन का या फिर पाकिस्तान के महान स्पिनर रहे अब्दुल कादिर और सकलैन मुश्ताक का इन सभी ने अपनी शानदार स्पिन गेंदबाजी से एशिया का ना रोशन किया है.

वर्तमान में भी एशिया में कई शानदार स्पिन प्रतिभा 

Yuzvendra Chahal Kuldeep Yadav

वर्तमान क्रिकेट में भी एशिया की कई शानदार स्पिन प्रतिभा अपना नाम रोशन कर रही है इसमें हम कुलदीप यादव, युज्वेंद्र चहल, रंगना हेराथ, राशिद खान, यासिर शाह, शाकिब उल हसन जैसे स्पिन गेंदबाजो का नाम ले सकते है.

प्रतिभाशाली स्पिनर होने के बावजूद नहीं मिल रहा अब्दुल कादिर के बेटे को मौका 

Screenshot 5 9

एशिया में शानदार स्पिनरों का आलम यह है, कि अच्छे-अच्छे स्पिनरों को भी अपनी राष्ट्रिय टीम में खेलने का मौका नहीं मिलता है.

अब्दुल कादिर के बेटे उस्मान कादिर को भी अपनी शानदार स्पिन प्रतिभा के बावजूद पाकिस्तान की टीम से खेलने का मौका नहीं मिल रहा है.

पाकिस्तान के लिए खेल चुके है अंडर-19 विश्वकप 

Pakistan vs West Indies AFP

आपकों बता दे, की अब्दुल कादिर के बेटे उस्मान कादिर पाकिस्तान की तरफ से साल 2012 में अंडर-19 विश्वकप खेल चुके है और वह लगातार घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन भी कर रहे है, लेकिन पाकिस्तान के चयनकर्ता उन्हें बार-बार नजरंदाज करते जा रहे है.

आपकों बता दे, कि अब्दुल कादिर के बेटे उस्मान कादिर 2020 में होने वाले टी20 विश्वकप में ऑस्ट्रेलिया की टीम खेल सकते है.

अब ऑस्ट्रेलिया की टीम से आ सकते है खेलते नजर 

Australia team aanounced for icc champions trophy

वह ऑस्ट्रेलिया की टीम से खेलने पर विचार कर रहे है. उन्होंने अपने एक बयान में कहा है, कि

“मुझे पाकिस्तानी चयनकर्ताओं द्वारा लगातार नजरंदाज किया जा रहा है. साल 2012 में ऑस्ट्रेलिया ने मुझे अपनी नागरिकता देने की बात कही थी, लेकिन मैंने उन्हें तब मना कर दिया था. 

हालाँकि मैं अब इस पर विचार कर रहा हूं. साल 2012 में जब अंडर-19 वर्ल्ड कप समाप्त हुआ था. तब मुझे ऑस्ट्रेलिया की ओर से खेलने का ऑफर दिया गया था.”

उस्मान ने आगे कहा,

“तब मैंने अपने इस ऑफर की बात अपने पिता को बताई थी, लेकिन उन्होंने मुझे तब इस बात को मानने से मना कर दिया था.

मेरे पिता का मनाना था कि मैं जल्द पाकिस्तान से खेलूँगा, लेकिन ऐसा पिछले कई सालों से नहीं हो पा रहा है. इसलिए मैं अब ऑस्ट्रेलिया से खेलने की बात पर विचार कर रहा हूं.”

NISHANT

खेल पत्रकार

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *