tim paine1

भारतीय क्रिकेट टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट वनडे और टी-20 श्रृंखला का प्रतिनिधित्व करने के लिए फिलहाल ऑस्ट्रेलिया में पहुंच चुकी है। इसी क्रम में अब दोनों टीमों की ओर से आगामी दौरे को लेकर बयान आने शुरू हो चुके हैं। इसी क्रम में ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट क्रिकेट के कप्तान टिम पेन ने विराट कोहली के बारे में अपनी प्रतिक्रिया दी।

विराट कोहली क बारे में बोले टिम पेन

paine181102

भारतीय क्रिकेट टीम ऑस्ट्रेलिया में तीन वनडे तीन टी-20 और चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला का प्रतिनिधित्व करेगी, टीम इंडिया के लिए बड़ी चुनौती यह है कि टीम के कप्तान विराट कोहली सिर्फ पहले टेस्ट मैच में भारतीय क्रिकेट टीम का प्रतिनिधित्व करेंगे। इसके बाद पैटरनिटी लीव पर चले जाएंगे और अजिंक्य रहाणे टीम की अगुवाई करेंगे। इसी क्रम में ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट क्रिकेट के कप्तान टिम पेन ने विराट कोहली के बारे में अपनी प्रतिक्रिया दी।

एबीसी स्पोर्ट्स से बात करते हुए ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट कप्तान ने इन बातों का जिक्र किया कि वह विराट कोहली को बाकी खिलाड़ियों की तरह मानता हूं। टिम पेन ने विराट कोहली के बारे में अभी बताया कि उनको एक साइन के रूप में विराट कोहली की बैटिंग देखना पसंद है।

विराट कोहली के बारे में टिम पेन का बयान

tim paine

एबीसी स्पोर्ट्स से बात करते हुए ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट कप्तान टिम पेन ने कहा की-

“मुझसे विराट कोहली के बारे में काफी सवाल पूछे जाते हैं, वो मेरे लिए एक सामान्य खिलाड़ी की तरह हैं और मुझे उनसे कोई परेशानी नहीं है। सच बोलू तो उनसे मेरे कोई खास रिश्ते नहीं हैं, मैं उनको टॉस के समय पर देखता हूं और मुकाबलों के दौरान उनके खिलाफ खेलता हूं, बस यही है। विराट के साथ, यह एक अच्छा मजाक था”

“हमको मैच के दौरान उनसे नफरत करना अच्छा लगता है, लेकिन बतौर क्रिकेट फैन मुझे विराट कोहली की बल्लेबाजी देखना पसंद है। विराट कोहली को बैटिंग करते हुए देखना मुझे बहुत अच्छा लगता है, लेकिन मुझे यह पसंद नहीं है कि वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बहुत ज्यादा रन बनाए”

17 दिसंबर से शुरु होगी टेस्ट सीरीज

881431 80363 bzmllcmdms 1517066995

भारतीय क्रिकेट टीम की टेस्ट श्रृंखला 17 दिसंबर से शुरुआत होगी और आखिरी मैच 15 जनवरी 2021 से खेला जाएगा इस श्रृंखला के दौरान भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी चाहेंगे कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हुआ जीत दर्ज करें। टीम इंडिया के लिए बड़ी चुनौती यह होगी कि विराट कोहली टीम का हिस्सा नहीं होंगे बाकी खिलाड़ियों को टीम के लिए संकटमोचक की भूमिका निभाने की जरूरत पड़ेगी।