Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse

टेस्ट क्रिकेट में आमतौर पर बल्लेबाज पूरा समय लेकर खेलते हैं. वहां पर बल्लेबाजों को स्ट्राइट रेट की चिंता नहीं होती है. पूरी तरह से निगाहें जमाने के बाद ही बल्लेबाज अपने शॉट्स खेलते हैं और केवल कमजोर गेंदों पर ही चौका-छक्का लगाते हैं. हालांकि कुछ बल्लेबाज ऐसे भी रहे हैं. जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में भी वनडे की तरह बल्लेबाजी की है.

इन बल्लेबाजों ने टेस्ट क्रिकेट में काफी रन बनाए हैं और ये रन उन्होंने आक्रामक अंदाज से बल्लेबाजी करते हुए बनाए हैं. टेस्ट इतिहास में अब तक कई बल्लेबाजों ने तिहरे शतक जड़े हैं और इनमें से कुछ बल्लेबाजों ने ताबड़तोड़ अंदाज में बल्लेबाजी करते हुए ये तिहरा शतक लगाया है.

कुछ बल्लेबाज आज भी टेस्ट को वनडे की तरह ही खेलते हैं, लेकिन इसके विपरीत कुछ एसे भी बल्लेबाज हैं जिन्होंने वनडे में टेस्ट की तरह खेल दिखाया है. उनका स्ट्राइक रेट वनडे क्रिकेट में भी टेस्ट क्रिकेट की तरह ही था. आज के इस विशेष लेख में हम 5 ऐसे इंडियन बल्लेबाजों के बारे में बताएँगे. जिन्होंने वनडे में सबसे खराब स्ट्राइक रेट से रन बनाये हैं. इस सूची में कम से कम 4000 रन बनाने वाले खिलाड़ियों को शामिल किया गया हैं.

क्रिस श्रीकांत

वो भारतीय पूर्व सलामी बल्लेबाज क्रिस श्रीकांत ही थे जिन्होंने टीम इंडिया में सबसे पहले वनडे मैचों के शुरुआती 15 ओवरों में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी का आगाज किया था. साल 2011 में जब टीम इंडिया ने आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप जीता था तब क्रिस श्रीकांत उसी टीम के चयनकर्ता प्रमुख थे.

श्रीकांत आज भी कई बल्लेबाजों के आदर्श हैं जो आज के दौर में तेजी से रन बनाकर खुद को स्थापित करना चाहते हैं. पूर्व भारतीय दिग्गज बल्लेबाज क्रिस श्रीकांत का नाम इस सूची में देखकर कई फैन्स बेहद हैरान होंगे. क्योंकि इस दिग्गज बल्लेबाज टॉप आर्डर का एक तूफानी बल्लेबाज रहा हैं. लेकिन फिर भी वनडे में उनका स्ट्राइक रेट सिर्फ 71.75 रहा हैं.

यह इस तथ्य के कारण ये हो सकता है कि श्रीकांत ने अपना अधिकांश क्रिकेट ऐसे समय में खेला था जब सफेद गेंद को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पेश नहीं किया गया था और यहां तक ​​कि सीमित ओवर के खेल भी लाल गेंद से खेले जाते थे.   

Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse

Ashutosh Tripathi

मैं एक पत्रकार हूँ. पत्रकार ना तो आस्तिक होता है और ना तो नास्तिक होता है बल्कि...