2019 विश्वकप

अन्तरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने 2019 में इग्लैंड में होने वाले विश्व कप क्रिकेट का पूरा कार्यक्रम आधिकारिक रूप से जारी कर दिया है. 50 ओवरों के इस क्रिकेट में कुल 10 टीमें हिस्सा लेंगी. भारतीय टीम 5 जून को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ साउथेम्प्टन से अपने अभियान की शुरूआत करेगी और कुल नौ मैच खेलेगी. इस बाद विश्वकप में क्रिकेट मैदान पर कुछ दिग्गज खिलाड़ी अपना जलवा नहीं बिखेर पाएंगे जिसे आप कहीं न कहीं जरूर मिस करेंगे. तो आज हम उन पांच महत्वपूर्ण खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनकी कमी इस विश्वकप खलने वाली है.

1- एबी डिविलियर्सABDVILLERS 360 डिग्री के नाम से दुनिया भर में मशहूर दक्षिण अफ्रीका के इस महान बल्लेबाज ने अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट को अचानक अलविदा कह अपने फैन्स को सदमे में डाल दिया. किसी ने सोचा भी नहीं था कि यह खिलाड़ी इतनी जल्दी क्रिकेट से दूरी बना लेगा. डिविलियर्स ने 23 मई 2018 को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है. यह खबर सुनने ही क्रिकेटप्रेमी उदास हो गए. अफ्रीका टीम को भी आगामी विश्वकप में इस बल्लेबाज की कमी जरूर खलेगी. ये इस बार विश्व कप में खेलते हुए नजर नहीं आयेंगे.

2- ब्रेंडन मैकुलम
81247 brendon mccullum 1
इस किवी बल्लेबाज ने अपने अंदाज़ से दुनिया भर को को अपना मुरीद बनाए रखा. मैकुलम की बेख़ौफ़ बल्लेबाजी आगामी विश्वकप देखने को नहीं मिलने वाला. 2015 के आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में यह खिलाड़ी अपनी टीम का कप्तान था लेकिन इस बार ऐसा नहीं है. 2002 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना वनडे में पदार्पण करने वाले मैकुलम ने 260 वनडे में खेले. जिसमें उन्होंने कई ऐतिहासिक पारियां खेली जिसे क्रिकेट इतिहास में नहीं भुलाया जा सकता. लेकिन अब यह खिलाड़ी इतिहास सा हो गया. अब मैकुलम का वह अंदाज़ नहीं देखने को मिलने वाला. चार आईसीसी क्रिकेट विश्व कप (2003, 2007, 2011 और 2015) में हिस्सा रहे थे लेकिन इस बार ये नहीं होंगे.

3- कुमार संगकाराCapture 6

इस लंकाई दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज को भला कौन भुला पायेगा. संगकारा ने अपनी कप्तानी में देशवासियों को ऐसी कई खुशियां दी जिसे लंकाई फैन्स कभी नहीं भुला पाएंगे. इस खिलाड़ी ने जुलाई, 2000 में पाकिस्तान बनाम वनडे की शुरुआत की थी. उन्होंने 404 वनडे में अपने राष्ट्र का प्रतिनिधित्व किया, जिसमें चार आईसीसी क्रिकेट विश्व कप (2003, 2007, 2011 और 2015) में भाग लिया. 2003 विश्वकप में सेमीफाइनल में बने श्रीलंका ने अगले दो संस्करणों में 2007 और 2011 में ऑस्ट्रेलिया और भारत के खिलाफ उप विजेता रही. लेकिन इस बार ये भी खेलते हुए नजर नहीं आयेंगे.

4- माइकल क्लार्क

Pg2Jqub5vb

कंगारू टीम में मध्यक्रम की रीढ़ के रूप में यह दिग्गज खिलाड़ी वर्षों तक खड़ा रहा लेकिन अब ऐसा नहीं रहा. जिसकी कमी साफ़ तौर पर देखने को मिलती है . ऑस्ट्रेलियाई कप्तान माइकल क्लार्क जिन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ जनवरी 2003 में अपनी वनडे कैरियर की शुरुआत की थी, इन्होनें  तीन आईसीसी क्रिकेट विश्व कप (2007, 2011 और 2015) में ऑस्ट्रेलियाई टीम का प्रतिनिधित्व किया. साथ ही ये 2015 के विश्व कप में विजेता टीम के कप्तान भी थे. अब ये क्रिकेट को अलविदा कह चुके हैं.

5- शाहिद अफरीदीShahid Afridi of Pakistan celebrates his wicket

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी ने केन्या के खिलाफ अक्टूबर 1996 में वनडे कैरियर की शुरुआत की थी. अफरीदी ने 398 वनडे में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व किया, इस प्रकार इन्होंने पांच आईसीसी क्रिकेट विश्व कप (1999, 2003, 2007, 2011 और 2015) टीम के लिए खेले. साथ ही इन्होंने कई मैचों में पाकिस्तान टीम की कप्तानी भी है किन्तु अब ये भी खेलते हुए नजर नहीं आने वाले है.

 

Anurag Singh

लिखने, पढ़ने, सिखने का कीड़ा. Journalist, Writer, Blogger,

Leave a comment

Your email address will not be published.