jadeja 1577076939
Prev1 of 7
Use your ← → (arrow) keys to browse

भारतीय क्रिकेट टीम के शानदार ऑलराउंडर रविन्द्र जडेजा को क्रिकेट की दुनियां में सर जडेजा के नाम से भी जाना जाता है. क्या आपने कभी यह सोचा की उन्हें ऐसा क्यों कहा जाता है. अगर नहीं तो जान लीजिये. दरअसल ब्रिटिश प्रशासन की ओर से ‘नाइट हुड’ की उपाधि देने की परंपरा रही है.

उस दौरान जिस शख्स के पास नाइट हुड की उपाधि होती थी, उसके नाम के साथ अभी भी सर लगाया जाता है. यह सम्मान ब्रिटेन की रानी देतीं हैं. यह एक विशेष सम्मान है जो कला, खेल , संगीत, साहित्य और विज्ञान आदि में अतुल्यनीय योगदान के लिए विशेष व्यक्ति को ब्रिटिश सरकार द्वारा प्रदान किया जाता है.

क्रिकेट की दुनिया में ‘सर’ शब्द सम्मान के तौर पर दिग्गज क्रिकेटर्स को दिया जाता है, लेकिन रविन्द्र जडेजा को यह उपाधि आधिकारिक रूप से प्रदान नहीं की गयी है. उन्हें सिर्फ भारतीय क्रिकेटर तथा कमेंटेटर ही सर जडेजा के नाम से पुकारते हैं. आज तक केवल 7 ही ऐसे लोग हैं जिन्हें आधिकारिक रूप से यह विशेष सम्मान प्राप्त है. आज अपने इस लेख में हम आपको उन्ही 7 खिलाड़ियों के नाम बताने जा रहे हैं.

7. सर डॉन ब्रैडमैन ( ऑस्ट्रेलिया)

don bradman

विश्व भर के दिग्गज खिलाड़ियों के किसी रिकॉर्ड या फिर उपाधि का जिक्र हो रहा हो और उसमें विश्व क्रिकेट के सर्वकालिक महान खिलाड़ी तथा ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज बल्लेबाज सर डॉन ब्रैडमैन के नाम की चर्चा ना सुनने को मिले ऐसा भला कैसे संभव है. ब्रैडमैन दुनिया के उन विशेष खिलाड़ी थे. जिनको ‘सर’ की उपाधि से सम्मानित किया गया था.

डॉन ब्रैडमैन ने सन 1948 में क्रिकेट से संन्यास लिया था और संन्यास के समय उनका औसत 99.94 का रहा. जो आज भी क्रिकेट जगह का सबसे बढ़िया औसत माना जाता है. क्रिकेट के खेल में उनके शानदार प्रदर्शन और लाजवाब पारियों के लिए उन्हें सर की उपाधि से सम्मानित किया गया.

सर डॉन ब्रैडमैन ने ऑस्ट्रेलिया के लिए कुल 52 टेस्ट मैच खेले और इस दौरान 99.94 की अद्दभुत और अविश्वसनीय औसत के साथ 6996 रन बनाने में कामयाब हुए. इस प्रारूप में उनके नाम पर 29 शतक और 13 अर्द्धशतक दर्ज रहे. डॉन ब्रैडमैन की बल्लेबाजी की मिसाल आज भी दी जाती है.

Prev1 of 7
Use your ← → (arrow) keys to browse