Virat Kohli R and coach Ravi Shastri 16db0dd0389 large

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 17 दिसंबर से शुरू होने वाली 4 टेस्ट मैचों की सीरीज को लेकर फिलहाल दोनों टीम तैयारियों में लगी हुई है। पहले टेस्ट मैच से पहले भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दो प्रैक्टिस मैच खेले। पहला मैच 6 से 8 दिसंबर तक जबकि दूसरा प्रैक्टिस मैच पिंक बॉल से लाइट्स के नीचे खेला गया था।

दूसरा प्रैक्टिस मैच, एडिलेड के मैदान पर होने वाले टेस्ट मैच की तैयारियों के लिए काफी अहम था। दोनों ही प्रैक्टिस मैच में भारतीय टीम के कई खिलाड़ियों से शानदार प्रदर्शन का नजारा देखने को मिला, जबकि कुछ खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन करने में फेल हो गए। खिलाड़ियों के प्रदर्शन की वजह से ही टीम मैनेजमेंट के सामने पहले टेस्ट मैच से पहले तीन बड़ी चुनौतियाँ खड़ी हो गई।

कौन करेगा ओपनिंग

टेस्ट मैच

आगामी सीरीज में भारतीय टीम के लिए सबसे बड़ी चुनौती यह होगी की वह कौन से ओपनर बल्लेबाज के साथ मैडन पर उतरेंगे। टेस्ट सीरीज में मयंक अग्रवाल का लगभग हर मैच में खेलना तय है। लेकिन सबसे बड़ा सवाल शुभमन गिल और पृथ्वी शॉ को लेकर होगा। इन दोनों खिलाड़ियों में कौन टीम के लिए ओपनिंग करेगा।

प्रैक्टिस मैच के दौरान टीम ने शुभमन गिल और पृथ्वी शॉ दोनों को ही मौका दिया था। लेकिन दोनों खिलाड़ियों के प्रदर्शन को देखते हुए ऐसा नहीं लगता की यह ऑस्ट्रेलिया  के खिलाफ बड़ी पारी खेलने में सक्षम होंगे। अगर दोनों के प्रदर्शन पर नजर डाले तो भारतीय टीम मैनेजमेंट शुभमन गिल पर भरोसा जता सकती है।

कौन होगा टीम का विकेटकीपर

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाली आगामी टेस्ट सीरीज के पहले टेस्ट मैच के पहले विराट कोहली को सबसे पहले यह फैसला लेना होगा की, ऋद्धिमान साहा और ऋषभ पंत में कौन क्रिकेटर टीम के लिए विकेटकीपिंग करेगा। जब भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया दौरे पर पहुची थी उस दौरान साहा को टीम की विकेटकीपिंग का पहली पसंद माना जा रहा था।

लेकिन पंत ने दूसरे प्रैक्टिस मैच में शतक ठोककर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी सीरीज में विकेटकीपिंग करने की दावेदारी पेश कर दी। अब कोहली की टीम मैनेजमेंट कौन से खिलाड़ी पर भरोसा जताएगी यह तो समय आने पर ही पता चलेगा।

लेकिन अगर टेस्ट क्रिकेट में विकेटकीपर की भूमिका के बारे में बात करें तो इस फॉर्मेंट में बल्लेबाजी नहीं बल्कि विकेटकीपिंग स्किल को ज्यादा तवज्जो दी जाती है। फिलहाल टीम में मौजूद पंत विकेटकीपिंग के मामले में साहा से काफी पीछे है।

गेंदबाजी की क्या होगी रणनीति

ashwin 1570183840

एडिलेड के मैदान पर होने वाले डे-नाइट टेस्ट मैच से पहले भारतीय टीम मैनेजमेंट के सामने बड़ा सवाल यह होगा कि क्या टीम 4 तेज गेंदबाज और एक स्पिन गेंदबाज के साथ मैदान पर उतरगी या फिर टीम प्लेइंग इलेवन में आश्विन और जडेजा दोनों शामिल होंगे। पहले टेस्ट मैच तक अगर रवींद्र जडेजा फिट हो जाते हैं तो फिर उनका खेलना लगभग तय है।

टीम के गेंदबाजों की रणनीति में सबसे बड़ा रोल मैदान पर मिलने वाली मदद का होगा। अगर एडिलेड के मैदान पर स्पिन गेदबाजों को मदद मिलेगी तो टीम दो स्पिन गेंदबाज के साथ मैदान पर उतर सकती है। प्रैक्टिस मैच के दौरान भारतीय टीम पहले मुकाबले में कुलदीप और आश्विन के साथ मैदान पर उतरी थी। आश्विन को विकेट मिले थे, जबकि कुलदीप को कोई विकेट नहीं मिला।