test chaimpionship

आईसीसी ने Test Championship के दूसरे सेशन का शेड्यूल कुछ वक्त पहले ही जारी कर दिया था। जिससे पता चलता है कि इंग्लैंड और भारत के बीच खेली जाने वाली टेस्ट सीरीज के साथ ही दूसरे सत्र की शुरुआत होगी। मगर अब इससे पहले आईसीसी ने WTC के प्वॉइंट सिस्टम में कुछ बदलाव किए हैं। असल में, अब टेस्ट चैंपियनशिप के दूसरे सीजन में एक मैच जीतने पर 12 अंक (प्वाइंट्स) मिलेंगे। मुकाबला टाई होने पर दोनों टीमों को छह-छह जबकि ड्रॉ होने की स्थिति में चार-चार अंक मिलेंगे।

Test Championship प्वॉइंट सिस्टम में बदलाव

आईसीसी ने Test Championship के दूसरे सत्र के लिए प्वॉइंट सिस्टम में बदलाव किया है। अब विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के दूसरे सीजन में एक मैच जीतने पर 12 अंक (प्वाइंट्स) मिलेंगे। मुकाबला टाई होने पर दोनों टीमों को छह-छह जबकि ड्रॉ होने की स्थिति में चार-चार अंक मिलेंगे। टीमें सीरीज में जो भी अंक हासिल करेंगी, उन्हें प्रतिशत में बदला जाएगा।

इस बार जीतने वाली टीम के पास जीत प्रतिशत प्वाइंट 100 फीसदी होंगे। टाई करने वाली टीम 50 फीसदी अंक हासिल कर पाएगी। इसके अलावा टेस्ट ड्रॉ होने पर दोनों टीमों को 33.33 फीसदी अंक मिलेंगे। पहले प्रत्येक सीरीज के 120 अंक होते थे, फिर चाहें यह दो टेस्ट की सीरीज हो या पांच टेस्ट की सीरीज हो। लेकिन इस बार मैचों के अंकों को समान रखा जा रहा है। इसका मतलब है यदि दो टेस्ट मैचों की सीरीज में 24 अंक और पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में 60 अंक निर्धारित होंगे।

कौन सी टीम खेलेगी, कितने मैच

Test Championship

इस बार प्वॉइंट सिस्टम में किए गए बदलाव के साथ Test Championship का पूरा सीजन और भी रोमांचक होगा। इस चक्र की शुरुआत इंग्लैंड और भारत के बीच खेली जाने वाली 5 मैचों की टेस्ट सीरीज के साथ शुरु होगी। सभी टीमें 6-6 टेस्ट सीरीज खेलेंगी, जिसमें 3 घरेलू सरजमीं पर, तो वहीं 3 विदेश में खेलनी होंगी। इस बार कौन सी टीम कितने मैच खेलेगी:-

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में न्यूजीलैंड की टीम महज 13 टेस्ट मैच खेलेगी।

इंग्लैंड की टीम सबसे ज्यादा 21 टेस्ट खेलने वाली है।

भारतीय क्रिकेट टीम 19 मैच खेलेगी।

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम 18 टेस्ट मैच खेलेगी।

वेस्टइंडीज और श्रीलंका की टीमें भी 13-13 टेस्ट मैच खेलेंगी।

पाकिस्तान क्रिकेट टीम 14 टेस्ट मैच खेलेगी।

बांग्लादेश क्रिकेट टीम 12 टेस्ट मैच खेलेगी।