kapil dev

आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप (Test Championship) के फाइनल मुकाबले की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे लोगों का उत्साह भी बढ़ता जा रहा है। वहीं क्रिकेट के गलियारों में मेगा इवेंट को लेकर लगातार चर्चा चल रही है और भारतीय टीम के बॉलिंग कॉम्बिनेशन पर भी दिग्गज खिलाड़ी अपने विचार प्रकट कर रहे हैं। एक सुझाव पूर्व दिग्गज स्पिनर मनिंदर सिंह ने भी संयोजन के लिए विराट कोहली और रवि शास्त्री को सुझाव दिए हैं।

Test Championship फाइनल के लिए दी सलाह

Test Championship

टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल (Test Championship) फाइनल में भारतीय टीम किस गेंदबाजी संयोजन के साथ उतरेगी, इसपर लगातार क्रिकेट गलियारों पर चर्चा चल रही है। इस बीच अब दिग्गज  स्पिनर मनिंदर सिंह ने भी सुझाव पेश किए हैं। उनका मानना है कि भारतीय टीम को फाइनल में रविचंद्रन अश्विन व रविंद्र जडेजा के साथ उतरना चाहिए। उन्होंने कहा,

“अगर मैं मैनेजमेंट में होता, तो मैं अश्विन और जडेजा दोनों को खिलाता। वे बड़ा असर डाल सकते हैं। जैसे-जैसे टेस्ट मैच आगे बढ़ेगा, तो (पिच) टूटने लगेगी। मैं अपने (इंग्लैंड में) अपने दोस्तों से बात करता हूं और वो बताते हैं कि गर्मी काफी होने लगी है।”

जडेजा की फॉर्म है असाधारण

टीम इंडिया के पास रविंद्र जडेजा जैसा स्पिनर हैं, जो अपनी स्पिन क्षमता के साथ-साथ बल्लेबाजी के साथ भी टीम की जीत में अहम भूमिका निभा सकते हैं। जडेजा ने हाल ही में IPL 2021 में गेंद व बल्ले के साथ शानदार प्रदर्शन किया, जिससे साबित होता है कि वह बेहतरीन फॉर्म में हैं। मनिंदर ने जडेजा की बल्लेबाजी का हवाला देते हुए कहा,

“जडेजा की हालिया फॉर्म असाधारण रही है। उन्होंने अपनी बैटिंग पर काफी मेहनत की है। लगातार रन बनाने से उनको जो आत्मविश्वास मिला है, वो उनकी गेंदबाजी में भी दिखा है।”

अश्विन किसी भी पिच पर ले सकते हैं विकेट

Test Championship

भारत के दिग्गज ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन Test Championship में कप्तान विराट कोहली का अहम हथियार होने वाले हैं। पिछले कुछ सालों में अश्विन ने शानदार प्रदर्शन किया है और वह घरेलू सरजमीं के अलावा, विदेशों में भी विकेटचटकाऊ गेंदबाजी करते नजर आते हैं। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर अश्विन ने 3 मैचों में 12 विकेट चटकाए थे। वहीं घरेलू इंग्लैंड सीरीज में 28 विकेट अपने नाम किए थे। अश्विन की फॉर्म पर बात करते हुए दिग्गज गेंदबाज ने कहा,

“अश्विन कमाल के खिलाड़ी हैं। अश्विन में काफी सुधार आया है और अब वह आपको ये भरोसा दिलाते हैं कि वह किसी भी पिच पर विकेट ले सकते हैं, जो कि उनके करियर के शुरुआती विदेशी दौरों में नहीं दिखता था।”