Tejashwi Yadav

बिहार की राजनीति में बीते कुछ दिनों से उथल-पुथल जारी है. जिसकी बड़ी वजह पूर्व भारतीय क्रिकेटर तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) हैं, जो क्रिकेट के मैदान पर भले ही खुद को साबित नहीं कर सके लेकिन, सियासत में एक अलग आयाम हासिल कर चुके हैं. साल 2020 में सीएम की कुर्सी से चूकने के बाद से तेजस्वी लगातार राजनीति में अपनी रणनीतियों को लेकर छाए रहे और आखिरकार अपने सियासी दांव-पेंच में सफल भी रहे.

लंबे समय बाद एक बार फिर उन्हें बिहार के डिप्टी सीएम की कुर्सी सौंपी गई है. जी हां आज (10 अगस्त) उन्होंने दूसरी बार बिहार के उपमुख्यमंत्री की शपथ ली है. इस खास रिपोर्ट में आपको तेजस्वी के क्रिकेट करियर के बारे में भी बताने जा रहे हैं, जिसके बारे में शायद बहुत कम ही लोग जानते हैं.

दूसरी बार बिहार के सीएम बने तेजस्वी यादव, कभी क्रिकेट में करियर बनाने का देखा था सपना

tejashwi yadav cricket

दरअसल बुद्धवार को एक बार फिर तेजस्वी यादव ने बिहार में डिप्टी सीएम के पद के तौर पर शपथ लिया है. ये दूसरी बार है जब महज 32 साल की उम्र में उन्होंने ये उपलब्धि हासिल की है. इससे पहले साल 2015 में उन्हें डीप्टी सीएम बनाया गया था. जिसके बाद से ही उन्हें राजनीति में एक अलग पहचान मिली और आज वो बिहार के माने-जाने नेताओं में चर्चित हैं. लेकिन, इसके इतर क्रिकेट में भी उनकी खासा दिलचस्पी रही. या यूं कहें कि राजनीति से पहले वो खेल के जगत में अपना करियर बनाना चाहते थे. लेकिन, दुर्भाग्यवश उन्हें क्रिकेट की दुनिया में वो कामयाबी हासिल नहीं हुई जिसकी उन्हें चाहत थी.

आपको जानकर हैरानी होगी कि तेजस्वी यादव टीम इंडिया के सफल कप्तान रह चुके विराट कोहली के साथ भी एक के लिए क्रिकेट खेल चुके हैं. एक समय में वो मध्यक्रम के एक बेहतरीन बल्लेबाज माने जाते थे. क्रिकेट में ज्यादा मौका नहीं मिलने के बाद तेजस्वी ने राजनीति का दामन थाम लिया था.