umesh yadav

भारतीय क्रिकेट टीम (Team India) इंग्लैंड सीरीज का दूसरा मुकाबला लॉर्ड्स में खेल रही है। इस मैच में भारत ने पहली पारी में 364 रन बनाकर इंग्लैंड के सामने मुश्किल लक्ष्य रखा है। इस मैच में शार्दुल ठाकुर के चोटिल हो जाने के बाद भी टीम मैनेजमेंट ने Umesh Yadav की ओर नहीं देखा। ऐसे में अब ये कहना गलत नहीं होगा की उमेश का करियर अब अंत की ओर बढ़ रहा है, क्योंकि इससे सीमित ओवर टीम से तो बाहर चल ही रहे थे और अब उन्हें टेस्ट टीम में भी मौका नहीं मिल रहा है।

Umesh Yadav को लंबे वक्त से नहीं मिला मौका

Umesh Yadav

33 वर्षीय अनुभवी तेज गेंदबाज Umesh Yadav ने भारत के लिए अपना अंतिम टेस्ट मैच ऑस्ट्रेलिया दौरे पर खेला था। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर एडिलेड टेस्ट में उन्होंने 3 और मेलबर्न टेस्ट में एक विकेट चटकाए था। उसके बाद चोटिल होने के चलते उनको बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी से बाहर होना पड़ा था। इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज में उमेश फिट ना होने के चलते टीम में जगह नहीं बना सके थे, जबकि न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में उनको प्लेइंग इलेवन में खेलने का मौका नहीं मिला था।

अब इंग्लैंड सीरीज में भी ऐसा ही कुछ देखने को मिल रहा है। 5 मैचों की सीरीज में उन्हें टीम में तो चुना गया है, लेकिन दो मैचों में अब तक उन्हें मौका नहीं दिया गया है, ऐसे में अब उनका टेस्ट करियर पतन की ओर बढ़ता नजर आ रहा है।

सीमित ओवर टीम से पहले ही चल रहे हैं बाहर

टेस्ट उमेश यादव को भले ही अंतिम ग्यारह में मौका नहीं मिल पा रहा हो, लेकिन सीमित ओवर क्रिकेट में तो उमेश एक लंबे समय से बाहर हैं। उन्होंने साल 2018 में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपना अंतिम वनडे और 2019 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना अंतिम टी20 आई मुकाबला खेला था।

अभी तक खेले 75 एकदिवसीय मैचों में उमेश यादव ने 33.63 की औसत के साथ 106 और 7 टी20 आई मुकाबलों में 24.33 की औसत के साथ 9 विकेट हासिल किए हैं। वैसे देखा जाए तो सीमित ओवरों के दोनों ही फॉर्मेट में उनकी वापसी के आसार मौजूदा समय में न के बराबर नजर आते हैं।

भारत के पास हैं तमाम विकल्प

Umesh Yadav

Umesh Yadav के प्लेइंग इलेवन में युवा तेज गेंदबाज भी एक बड़ा रोड़ा बनकर सामने आ रहे हैं। हाल फिलहाल के समय में टीम मैनेजमेंट और कप्तान विराट कोहली ने उमेश के स्थान पर युवा तेज गेंदबाज पर ज्यादा भरोसा जताया है। इन गेंदबाजों में शार्दुल ठाकुर और मोहम्मद सिराज जैसे नाम शामिल है। इन गेंदबाजों के साथ-साथ टीम के पास विकल्प के रूप में नवदीप सैनी, टी नटराजन और दीपक चाहर जैसे खिलाड़ियों के नाम शामिल हैं।