Team India, Virat Kohli, Yuvraj Singh, MS Dhoni
Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

टीम इंडिया (Team India) में दिग्गज खिलाड़ियों का बोलबाला रहा हैं. भारतीय टीम में खिलाड़ियों के रिश्ते हमेशा सुर्खियों में बने रहते हैं. इतिहास में जब-जब भारतीय कप्तान बदले गये हैं, तब-तब खिलाड़ियों के लिए अपनी जगह बचाना मुश्किल हो जाता है, क्योंकि कप्तान अपने मनपसंद प्लेयर्स को खिलाना पसंद करता हैं, जिस कारण खिलाड़ियों में बदले की भावनाए पैदा हो जाती हैं.

जिसमें कुछ खिलाड़ियों का रिश्ता अच्छा बन जाता है और कुछ का बिगड़ जाता है. हालांकि भारतीय टीम में कुछ खिलाड़ी ऐसे भी हैं, जो पहले जिगरी दोस्त हुआ करते थे, लेकिन समय और हालत बदलने के साथ साथ दोस्ती में दरार आ गई और इनके रिश्तों में ऐसी कड़वाहाट घुल गई है और दोस्त से दुश्मन बन गये है.

1. युवराज सिंह और महेंद्र सिंह धोनी

युवराज सिंह और महेंद्र सिंह धोनी

युवराज सिंह (Yuvraj Singh) भारतीय टीम के स्टार बल्लेबाज थे. जिनका रुतबा पूरी दुनिया में निराला था. इन्होंने अपने कारनामों से क्रिकेट जगत में भूचाल सा ला दिया था. युवराज सिंह ने 6 गेंदों में 6 छक्के मार कर इतिहास रच दिया था. जिसको हमेशा याद किया जाता है.

युवराज सिंह और एमएस धोनी (MS DHONI) की दोस्ती एक समय पीक पर थी. सोशल मीडिया पर दोनों की दोस्ती के चर्चे थे. जब धोनी टीम में आए तो उसके बाद इस जोड़ी ने मध्यक्रम में साथ खेलते हुए भारतीय टीम को कई मैच जिताए, जिससे दोस्ती और भी ज्यादा गहरी हो गई.

युवराज सिंह और एमएस धोनी की दोस्ती में उस समय दरार आना शुरू हो गई, जब धोनी कप्तान थे और युवराज सिंह टीम के बाहर नजर आ रहे थे. धीरे-धीरे ये रिश्ता बहुत ज्यादा कमजोर हो गया. जो सोशल मीडिया पर भी नजर आया. युवराज सिंह के पिता ने तो अपने बेटे के टीम से बाहर होने पर धोनी को जमकर अपशब्द बोले. युवराज सिंह के पिता ने धोनी पर कई तरह के आरोप भी लगाए. उन्होंने कहा कि धोनी ने मेरे बेटे का करियर खत्म कर दिया. इस बात को खुद युवराज सिंह ने भी स्वीकारा. उन्होंनो कहा कि धोनी ने बुरे समय में उनका साथ नहीं दिया. जिसके चलते आज भी दोनों खिलाड़ियो के रिश्ते में कड़वाहाट है.

Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse