Team India-3 mistake

इंग्लैंड की परिस्थितियों में Team India के बल्लेबाजों के प्रदर्शन को लेकर हमेशा क्रिकेट के गलियारों में चर्चा बनी रहती है। इंग्लिश परिस्थितियों में बल्लेबाजी करना किसी भी बल्लेबाजों के लिए आसान नहीं होता, खासकर एशियाई बल्लेबाजों के लिए। स्विंग करती ड्यूक गेंद के सामने भारत की विश्व स्तरीय बल्लेबाजी इकाई को हाल ही में WTC फाइनल में संघर्ष करते देखा। अब इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एलिस्टर कुक ने बताई भारतीय बल्लेबाजों की कमजोरी।

स्विंग और सीम लेती गेंदें हैं भारत की कमजोरी

Team India

इंग्लैंड में भारतीय क्रिकेट टीम ने 2007 के बाद से आज तक टेस्ट सीरीज नहीं जीती है। ऐसे में Team India इस बार टेस्ट सीरीज को जीतकर इंग्लैंड में अपने ट्रैक रिकॉर्ड को सुधारना चाहेगी। लेकिन एक बार फिर भारतीय बल्लेबाजों के सामने इंग्लिश कंडीशंस होंगी, जहां उन्हें खेलने में मुश्किल आती है। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान सर एलिस्टर कुक ने भारतीय बल्लेबाजों की कमजोरी बताई है। उनका मानना है कि सीम व स्विंग गेंदों के सामने भारतीय बल्लेबाज दबाव में आ जाते हैं। कुक ने कहा,

‘‘भारतीय टीम शानदार है, लेकिन गेंद को मूवमेंट मिलने पर इंग्लैंड दबाव बना सकता है। अगस्त में अगर हालात ऐसे रहे और पिच में नमी रहने पर इंग्लैंड का पलड़ा भारी होगा। भारत के पास विश्व स्तरीय बल्लेबाज हैं लेकिन उनकी कमजोरी सीम और स्विंग लेती गेंद है. ऐसे में उन पर दबाव बनाया जा सकताा है।’’

WTC फाइनल में मिली हार के कारण

भारत को न्यूजीलैंड के हाथों विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में 8 विकेटों से हार का सामना करना पड़ा। इस हार के साथ ही भारत का विश्व चैंपियन बनने का सपना भी टूट गया। तमाम दिग्गज भारत की हार के कारणों के बारे में बात कर चुके हैं। अब सर एलिस्टर कुक ने दो कारण बताए हैं, जिसके चलते भारत को महामुकाबले में हार मिली। उन्होंने बताया,

‘‘ मैच से तीन दिन पहले टीम चुनना और दो स्पिनरों को उतारना अति आत्मविश्वास था जबकि उन्हें पता था कि मैच के दौरान बारिश हो सकती है।’’

4 अगस्त से शुरु होगी इंग्लैंड सीरीज

team india

Team India और इंग्लैंड के बीच 4 अगस्त से टेस्ट सीरीज की शुरुआत होगी। इस सीरीज का पहला मैच नॉर्टिंघम में खेला जाएगा। इसके लिए मौजूदा समय में छुट्टियां इंज्वॉय कर रही भारतीय टीम को 14 जुलाई से बायोबबल में वापस एंट्री करनी है। टेस्ट सीरीज जीतने का ये भारत के पास बहुत ही अच्छा मौका है, क्योंकि भारत के पास इंग्लैंड में तैयारी करने का काफी वक्त है। इस सीरीज का सभी बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।