भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच जारी टी-20 सीरीज का पहला मुकाबला कैनबरा के मैदान पर खेला गया। मैच के दौरान भारतीय क्रिकेट टीम के प्लेइंग इलेवन पर सवाल उठा। दरअसल टीम इंडिया के प्लेइंग इलेवन में मनीष पांडे को शामिल किया गया, जो कि खराब प्रदर्शन किए। टीम ने आज के मैच में कई ऐसे फैसले लिए जिसको लेकर खूब सवाल उठे।

प्लेइंग इलेवन से महत्वपूर्ण खिलाड़ी बाहर

EoYPNscUcAMTdsj

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच जारी 3 टी-20 मैचों की सीरीज के पहले टी-20 मैच के दौरान टीम के प्लेइंग इलेवन पर नजर डाले तो टीम के प्लेइंग इलेवन से युजवेंद्र चहल और जसप्रीत बुमराह को बाहर रखा गया। वहीं श्रेयस अय्यर को भी बाहर किया गया उनकी बजाय टीम मैनेजमेंट ने मनीष पांडे को मैदान पर उतारा।

मैच के दौरान संजु सैमसन को मध्यक्रम में बल्लेबाजी करने का मौका मिला। उन्होंने बल्लेबाजी संतोषजनक की लेकिन इसके बावजूद टीम मैनेजमेंट के इसके फैसले को लेकर सवाल उठे। मैच में धवन को लेकर भी उम्मीद थी की उनकी जगह मयंक को मौका मिलेगा।

टीम मैनेजमेंट ने की बड़ी गलती

india vs australia 1 1

भारतीय क्रिकेट टीम ने मुकाबले में श्रेयस अय्यर को मौका नहीं दिया, इसके बाद यह सवाल उठ रहा है कि टीम इंडिया को लंबे इंतजार के बाद श्रेयस अय्यर जैसा बेहतरीन मध्यक्रम विकल्प मिला है। अय्यर से पहले नंबर 4 पर कई खिलाड़ियों को आजमाया गया। लेकिन श्रेयस अय्यर ने अच्छा प्रदर्शन किया।

मैच के दौरान टीम इंडिया ने चहल को भी मौका नहीं दिया, हालांकि जब चहल चहल को जडेजा के जगह टीम में शामिल किया गया तो उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन किया। खिलाड़ियों को ऐसे बाहर करने के बाद टीम के खिलाड़ियों के आत्मविश्वास कम हो जाता है।

राहुल की जगह अभी भी फिक्स नहीं

En0DubRUwAEyduo scaled e1606482910571

केएल राहुल फिलहाल एक विकेटकीपर के तौर पर टीम के प्लेइंग इलेवन का प्रतिनिधित्व कर रहे है। केएल राहुल की बल्लेबाजी नंबर की बात करें तो वह मैच में एक ओपनर बल्लेबाज के तौर पर मैदान पर उतरे। जबकि टॉप ऑर्डर में हमेशा बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले संजु सैमसन को मध्यक्रम में बल्लेबाजी करने का मौका मिला। वहीं टीम ने प्रोफेशनल विकेटकीपर संजु सैमसन को एक फील्डर के तौर पर मैदान पर उतारा गया।