Team India-virat kohli

टीम इंडिया (Team India) के सीनियर खिलाड़ी इस समय इंग्लैंड दौरे पर मौजूद है. लेकिन इस बीच शुभमन गिल के इंजरी की खबर के बाद कप्तान विराट कोहली और मैनेजमेंट के सामने कई चुनौतियों ने दस्तक दे दी है. गिल के रिप्लेसमेंट को लेकर सस्पेंस जारी है. ऐसे में टीम रिजर्व ओपनर की जगह पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) और देवदत्त पडिक्कल (Devdutt Paddikal) में से किसी एक खिलाड़ी को ब्रिटेन में देखना चाहती है.

तो वहीं दूसरी ओर ये जोड़ी श्रीलंका के खिलाफ होने वाली सीरीज के लिए मैदान पर जमकर पसीना बहा रही है. इसी बीच खबर आ रही है कि, भारतीय टीम मैनेजर जो इस वक्त इंग्लैंड में मौजूद हैं उन्होंने ओपनर के तौर पर दो रिप्लेसमेंट की बात कही थी. लेकिन BCCI की चयन समिति ने इस आग्रह को सिरे से खारिज कर दिया है. क्या है पूरी खबर, जानिए इस रिपोर्ट के जरिए…

विराट कोहली को लेकर अधिकारी ने जताई नाराजगी

Team India

दरअसल भारतीय बोर्ड के एक अधिकारी ने इन हालातों पर नाराजगी जताई है और ये सवाल उठाया है कि, जब 24 सदस्यीय टीम को कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) की मौजूदगी में चुना जा रहा था तो टीम के बारे में इस तरह की आशंका पहले क्यों नहीं जताई गई थी. इस बारे में अधिकारी ने “टाइम्स ऑफ इंडिया” से बातचीत करते हुए कहा कि,

”टीम प्रबंधन को अपने दृष्टिकोण के बारे में क्लियर होना चाहिए. जब टीम के चुना की बात होती है तो  चयनकर्ता हमेशा टीम प्रबंधन की मांगों पर ही गौर करते हैं. इस टीम का चुनाव कप्तान के सामने हुआ था.

राहुल को सलामी बल्लेबाज के आधार पर टीम में शामिल किया गया. यदि उनके पास योजनाओं में बदलाव होता तो उन्हें इसके बारे में पहले जिक्र करना चाहिए था.”

ईश्वरन का सलामी बल्लेबाज के तौर पर खेलना मुश्किल

849862 abhimanyu easwaran twitter

इस समय भारतीय टीम प्रबंधन की तरफ से जो अपडेट सामने आ रही है, उसके मुकाबिक ये कहा जा रहा है कि, सिर्फ मयंक अग्रवाल और रोहित शर्मा को ही ओपनिंग करते हुए देखा जा सकता है. जबकि केएल राहुल को मीडिल ऑर्डर में खिलाने की प्लानिंग की जा रही है. तो वहीं अभिमन्यु ईश्वरन की बात करें तो बैक-अप के तौर पर चुने गए इस खिलाड़ी को जेम्स एंडरसन, स्टुअर्ट ब्रॉड, जोफ्रा आर्चर एंड कंपनी जैसे खिलाड़ियों के सामने काफी कच्चा माना जा रहा है. ऐसे में उनका इंग्लैंड के खिलाफ खेलना ना के बराबर कहा जा सकता है.

हालांकि इस बारे में बीसीसीआई (BCCI) के अधिकारी ने बातचीत करते हुए आगे कहा कि,

”ईश्वरन फरवरी-मार्च में इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज के बाद से टीम इंडिया (Team India) के साथ बने हुए हैं. ऐसे में टीम प्रबंधन को ये बात क्लियर करने की जरूरत है कि वो ईश्वरन का इस्तेमाल करने के बारे में श्योर क्यों नहीं हैं. उसके बाद ही इस पर किसी तरह का निर्णय किया जा सकता है. रिप्लेसमेंट भेजने की जरूरत है या नहीं.”

टीम के पास ओपनर के लिए 4 विकल्प

KL Rahul PTI88 1

चयन समिति के मुताबिक टीम इंडिया (Team India) के पास अभी भी ओपनर के तौर पर चुनने के लिए 4 सलामी बल्लेबाजों का विकल्प है. जिसमें रोहित शर्मा, मयंक अग्रवाल, केएल राहुल और अभिमन्यु ईश्वरन का नाम शामिल है. इसके साथ यदि कोई समस्या होती है तो उस हालात में हनुमा विहारी को ओपनर बल्लेबाज के तौर पर चुना जा सकता है. तथ्य ये है कि इंग्लैंड में साढे तीन महीने के लंबे दौरे के लिए 24 खिलाड़ियों को इंग्लैंड भेजा गया था. अब टीम इंडिया की ओर से और खिलाड़ियों की मांग को लेकर बीसीसीआई को नाराज बताया जा रहा है.

अधिकारी ने ये बात भी कही कि, ”इंग्लैंड में इस वक्त 4 सलामी बल्लेबाज की मौजूदगी है और ये सिर्फ महामारी की वजह से ही संभव हो पाया था. पहले टीम के पास ऐसी व्यवस्था नहीं थी. उन्हें लंबे दौरों पर 15 खिलाड़ियों के साथ काम करना था. यह वो जगह है जहां चयनकर्ताओं और टीम प्रबंधन को एक ही पृष्ठ पर होना चाहिए और अपनी प्लानिंग के बारे में स्पष्ट होना चाहिए. हर सीरीज के लिए 24 खिलाड़ियों को चुनने से चयनकर्ताओं का काम बहुत आसान हो गया है. अगर वो अपनी ओर से चय किए गए 24 खिलाड़ियों के बारे में श्योर नहीं है तो, इसे जल्द ही सुलझा लिया जाना चाहिए.”

हनुमा विहारी किसी भी पोजिशन पर कर सकते हैं बल्लेबाजी

Hanuma Vihari 1024x576 1

इसके साथ ही सूत्र ने अपने बयान में आगे कहा कि,

”इसमें किसी तरह का संदेह नहीं है कि हनुमा विहारी से संकट जैसे हालात में कुछ भी करने के लिए कहा जाएगा तो वो करने लिए तैयार रहेंगे. लेकिन, वो मध्यक्रम में बल्लेबाजी करने से ज्यादा खुश हैं.”

टाइम्स ऑफ इंडिया के हवाले से आई रिपोर्ट की माने तो, भारतीय टीम प्रबंधन और चयन समिति के प्रमुख चेतन शर्मा जनवरी में नियुक्ति के बाद से ही बहुत सी बातों को लेकर सहमत नहीं हैं.

यहां तक कि कुछ लोगों की ओर से इस तरह का भी दावा किया गया है कि, चेतन शर्मा टीम इंडिया (Team India) कुछ खिलाड़ियों को पर्सनली ज्यादा प्रायोरिटी देते हैं. जबकि दोनों पक्षों के बीच बातचीत की भी काफी कमी है. अभी तक ये बात स्पष्ट है कि पृथ्वी शॉ और देवदत्त पडिक्कल दोनों 13 जुलाई को श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज की शुरुआत करेंगे. जबकि इंग्लैंड में भारतीय टीम को सभी स्थान पर ज्यादा स्थिरता लाने के लिए अपनी प्लानिंग में बदलाव करना होगा.