Team India
MULTAN, PAKISTAN: A jubilant Indian cricket team celebrates their victory over Pakistan in the first Test match in Multan, 01 April 2004. India clinched their maiden Test victory on Pakistani soil when they won the first match of the current series by an innings and 52 runs. AFP PHOTO/Jewel SAMAD (Photo credit should read JEWEL SAMAD/AFP/Getty Images)
Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse

Team India: क्रिकेट से संयास लेने के बाद कई क्रिकेटर्स कॉमेंट्री करते हुए नज़र आते हैं. चाहे फिर वो भारतीय खिलाड़ी हो या विदेशी खिलाड़ी, तकरीबन हर क्रिकेटर कॉमेंटरी करते हुए नज़र आता है. गॉड ऑफ़ क्रिकेट कहलाए जाने वाले भारतीय टीम के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज़ सचिन तेंदुलकर तक रिटायरमेंट लेने के बाद कॉमेंटरी करते हुए नज़र आए हैं.

वहीं हरभजन सिंह, इरफ़ान पठान, वीरेंदर सेहवाग, सुनील गावस्कर जैसे कई दिग्गज भारतीय खिलाड़ी भी कॉमेंटरी करते हुए नज़र आए हैं. हाल ही में आईपीएल 2022 में भारतीय टीम के पूर्व स्टार ऑलराउंडर सुरेश रैना भी कॉमेंटरी करते हुए नज़र आए. लेकिन आज हम आपको बताने वाले हैं 5 ऐसे पूर्व भारतीय दिग्गज खिलाड़ियों के बारे में जो कभी-भी कॉमेंट्री करते हुए नज़र नहीं आए हैं.

1) युवराज सिंह

Yuvraj Singh

भारतीय टीम (Team India) के पूर्व घातक ऑलराउंडर युवराज सिंह टीम इंडिया के इतिहास में एक बड़ा नाम है. युवराज ने अपने दम पर टीम इंडिया को कई मुकाबले जितवाए हैं. इन्होंने अपनी घातक गेंदबाज़ी और ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी से सबको अपना दीवाना बनाया था.

हालांकि रिटायरमेंट लेने के बाद युवराज ने क्रिकेट से थोड़ी दूरी बना ली है. जैसे कि दूसरे खिलाड़ी संन्यास लेने के बाद या तो कोचिंग स्टाफ या कॉमेंट्री के ज़रिए क्रिकेट से जुड़े रहते हैं. लेकिन ऐसा कभी युवी ने नहीं किया. उन्हें रिटायरमेंट लेने के बाद कभी -भी कॉमेंट्री करते हुए नहीं देखा गया. इसके अलावा बता दें कि युवराज ने टीम इंडिया के लिए 40 टेस्ट, 58 T20 और 304 एकदिवसीय मुकाबले खेले हैं.

Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse